Saturday , July 20 2024

पोर्न फिल्म केस:शिल्पा शेट्टी और राज कुंद्रा के जॉइंट अकाउंट में विदेश से आया पैसा; अब ED मनी लॉन्ड्रिंग की जांच करेगी

मुंबई पुलिस की पूछताछ के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय (ED) राज कुंद्रा पर शिकंजा कसने की तैयारी में है। ED कुंद्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग और विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (FEMA) के तहत 26 जुलाई के बाद कभी भी मामला दर्ज कर सकती है। मुंबई पुलिस प्रोटोकॉल के मुताबिक ED को वित्तीय अनियमितताओं की जांच करने के लिए कहेगी, जिसमें फॉरेन एक्सचेंज वॉयलेशन भी शामिल है।

PMLA और FEMA के तहत समन जारी होगा
मामला दर्ज करने के बाद निदेशालय अपनी जांच शुरू करने से पहले मुंबई पुलिस से FIR की कॉपी लेगा। पूछताछ से पहले ED कुंद्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग और FEMA के तहत समन जारी कर सकती है। राज कुंद्रा को अश्लील फिल्में बनाना और उन्हें ऐप्स के जरिए रिलीज करने के आरोप में पुलिस हिरासत में लिया गया है। जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान कुंद्रा की हिरासत 27 जुलाई तक बढ़ा दी गई है।

शिल्पा से भी पूछताछ हुई, मुंबई पुलिस से क्लीन चिट भी मिली

  • शुक्रवार को शिल्पा से क्राइम ब्रांच अधिकारियों ने जॉइंट अकाउंट से किए गए लेनदेन के बारे में पूछताछ की थी। उनके घर पर भी तलाशी ली थी।
  • शिल्पा से करीब 20-25 सवाल पूछे गए थे और उनमें से ज्यादातर इंटरनेशनल एक्सचेंज के बारे में थे। दंपति का जॉइंट अकाउंट राष्ट्रीयकृत बैंक में है।
  • एक अधिकारी ने नाम पब्लिक न करने की शर्त पर कहा कि उस अकाउंट में फंड विदेशों से कई रूट्स से आया है। उसी की जांच की गई है और हम फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स की भी मदद ले रहे हैं।
  • हालांकि मुंबई पुलिस ने कथित तौर पर शिल्पा को क्लीन चिट दे दी है, क्योंकि पोर्न रैकेट में उनकी भागीदारी को लेकर कोई सबूत नहीं मिले हैं।

जांच में कई बातों का खुलासा हुआ

  • जांच में सामने आया है कि शिल्पा के अकाउंट में एक बड़ी रकम अफ्रीका और लंदन से ट्रांसफर हुई है। इसकी जानकारी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से छिपाई गई थी।
  • कुंद्रा के खिलाफ क्रिकेट की सट्टेबाजी के सबूत मिले हैं। शिल्पा के अकाउंट में भी इसके कुछ पैसे ट्रांसफर हुए थे। सूत्रों की मानें तो कई बार बेटिंग यानी सट्‌टेबाजी के दौरान एक्ट्रेस के बैंक अकाउंट का इस्तेमाल हुआ।
  • मुंबई पुलिस का मानना है कि शिल्पा को कुंद्रा के सारे कारोबार और उससे जुड़ी दूसरी चीजों की पूरी जानकारी थी, लेकिन अब उन्हें बचाने के लिए वे इससे इनकार कर रही हैं।
साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch