Sunday , July 14 2024

अकलीम द्वारा अगवा छात्रा का दरगाह में धर्मांतरण, परिजनों पर भी इस्लाम कबूल करने का दबाव: परिवार ने दी पलायन की धमकी

बरेली/लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के शाही कस्बे में बीए सेकेंड ईयर में पढ़ने वाली हिंदू छात्रा को ब्लैकमेल करने और फिर उसका अपहरण करने के मामले में छात्रा के परिजनों ने कहा है कि उन पर भी धर्मांतरण कर मुस्लिम बनने का दबाव बनाया जा रहा है। उनका कहना है कि उनकी अगवा बेटी का दरगाह आला हजरत में धर्मांतरण कर दिया गया है। कार्रवाई नहीं होने पर परिवार ने पलायन की धमकी दी है।

दरअसल, आरोपित अकलीम कुरैशी नाम के आरोपित ने खुद को हिंदू बताते हुए विशाल नाम से लड़की के साथ नजदीकियाँ बढ़ाई थीं। उसके बाद अकलीम कुरैशी पीड़िता का अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगा और बात नहीं मानने पर बाद में उसका अपहरण कर लिया था।

छात्रा के परिजनों ने SSP से गुहार लगाते हुए कहा कि 05 अगस्त को घर से सामान लेने निकली उनकी बेटी का मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा अपहरण कर लिया गया। परिजनों ने बताया कि अब एक रजिस्ट्री चिट्ठी आई है, जिसमें बताया गया है कि उनकी बेटी का दरगाह आला हजरत में धर्मांतरण कर दिया गया है। परिजनों का यह भी कहना है कि उन पर भी धर्मांतरण का दबाव बनाया जा रहा है और इस्लाम कबूल करने के लिए कहा जा रहा है। धर्मांतरण न करने पर गाँव से बाहर किए जाने की धमकी भी दी जा रही है।

आरोपित अकलीम कुरैशी ने सबसे पहले खुद को विशाल बताकर छात्रा के साथ नजदीकी बढ़ाकर अश्लील वीडियो बनाया और उसे ब्लैकमेल करने लगा। हालाँकि, जब छात्रा उसके ब्लैकमेलिंग और धमकियों के आगे नहीं झुकी तो एक दिन जब छात्रा दुकान में सामान लेने के लिए गई थी तो वहाँ से उसका अपहरण कर लिया। अपहरण के बाद इन आरोपों से खुद को बचाने के लिए आरोपित ने पोस्ट ऑफिस के जरिए शाही थाने को एक पत्र भेजा। इसमें छात्रा के नाम से लिखा कि उसने (छात्रा) अपना धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपना लिया है और आरोपित अकलीम के साथ निकाह कर लिया है। हालाँकि, जब इसकी जानकारी को खंगाला गया तो निकाह की बात झूठी निकली।

रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में इलाके के सभासद खलीबुल हसन खान पर आरोप है कि उसी ने वारदात को अंजाम देने में अकलीम कुरैशी की मदद की थी। दोनों के ही खिलाफ नामजद रिपोर्ट लिखी गई है और पुलिस उनके करीबियों से पूछताछ कर रही है। आरोपित की धमकियों से डरे छात्रा के परिजनों ने जिले के एसएसपी से मिलकर सहायता की गुहार लगाई। एसएसपी ने पीड़ित परिवार को जल्द से जल्द न्याय का आश्वासन दिया है। साथ ही कहा है कि जल्द ही आरोपित को भी पकड़ लिया जाएगा।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch