Tuesday , September 28 2021

‘आपकी अफगानिस्तान की टिकट का पैसा मैं भरूँगी’ : तालिबान ‘प्रेम’ में बौराए मौलाना को रुबिका ने दिया बंपर ऑफर, स्वरा को भी लगाई लताड़

नई दिल्ली। अफगानिस्तान में तालिबानियों की बर्बरता देख पूरा विश्व इस समय उनकी निंदा करने में लगा है। ऐसे में भारत का सेकुलर और कट्टरपंथी धड़ा है जो इस माहौल में भी अपना-अपना एजेंडा चला रहा है। हालाँकि, दिलचस्प बात ये है कि टीवी जर्नलिस्ट रुबिका लियाकत जैसे लोग ‘बंपर ऑफर्स’ और अपने ‘तीखे सवालों’ के साथ उन्हें जवाब दे रहे हैं।

उदहारण के लिए, तालिबान द्वारा अफगानिस्तान कब्जाने के बाद ‘ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB)’ के प्रवक्ता मौलाना सज्जाद नोमानी फूले नहीं समा रहे थे। लेकिन रुबिका ने उनकी बात सुनने के बाद उन्हें जवाब में लिखा, “मौलाना साहब आपकी तालिबान को लेकर बेइंतहा मुहब्बत देखते हुए आपके लिए एक बंपर ऑफ़र मेरे मन में आया है- आपको एक पल उनसे दूर नहीं रहना चाहिए आपकी अफगानिस्तान की टिकट का पैसा मैं भरूँगी।”

बता दें कि मौलाना ने तालिबान का समर्थन करते हुए कहा था कि तालिबान ने दुनिया की सबसे मजबूत फौज को शिकस्त दे दी है। AIMPLB प्रवक्ता ने कहा था, “एक बार फिर यह तारीख रकम हुई है। एक निहत्थी कौम ने सबसे मजबूत फौजों को शिकस्त दी है। काबुल के महल में वे दाखिल होने में कामयाब रहे। उनके दाखिले का अंदाज पूरी दुनिया ने देखा। उनमें कोई गुरूर और घमंड नहीं था।”

इसी तरह स्वरा भास्कर ने लिखा था, “हम तालिबान के आतंक पर हैरानी और दुःख जताते हुए ‘हिंदुत्व आतंकवाद’ की तारीफ नहीं कर सकते। ऐसा भी नहीं हो सकता कि हम तालिबान के आतंक पर चुप बैठें और ‘हिंदुत्व आतंकवाद’ पर आक्रोश जताएँ। हमारे मानवीय व नैतिक मूल्य इस पर आधारित नहीं होना चाहिए कि अत्याचारी कौन है और पीड़ित कौन है।”

अभिनेत्री के इस ट्वीट पर टीवी जर्नलिस्ट रुबिका ने लिखा, “हिंदुत्व टेरर! लड़ाके कहाँ है? रॉकेट लॉन्चर, मशीन गन के साथ घूम रहे आतंकी दिखा दीजिए। मुल्क पर क़ब्ज़ा करने की कोई तस्वीर दिखा दीजिए, संस्कृत या हिंदी में लिखा वो कानून बता दीजिए जहाँ घूँघट के बग़ैर औरतों के निकलने पर पाबंदी हो, अच्छा आप बस हिंदुस्तान से भाग रहे मुसलमान दिखा दें।”

उल्लेखनीय है कि ये पहली दफा पत्रकार रुबिका लियाकत ने एक्ट्रेस स्वरा भास्कर को लताड़ नहीं लगाई। पिछले साल हिंदुस्तान पेपर और एबीपी समाचार चैनल के संयुक्त प्रयास से ‘शिखर समागम’ का आयोजन किया जा रहा था, जिसमें आयोजित एक सत्र में CAA, NRC, NPR विषय पर चर्चा हो रही थी। इसी दौरान रुबिका ने स्वरा से एक के बाद एक कई सवाल किए थे।

रुबिका ने पूछा था- “NRC का draft कहाँ है?, बस आपको हवा-हवाई बातें करनी हैं, Vote देने जाएँगी कागज़ दिखाएँगी, और नारे लगवाएँगी कागज़ नहीं दिखाएँगे, मैडम आपने CAA एक्ट पढ़ा है? मुझे यकीन था आपने एक्ट नहीं पढ़ा होगा। आप मुस्लिमों को डरा रही हैं।”

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति