Thursday , October 28 2021

उत्तर प्रदेश में 5 प्रमुख प्रोजेक्ट पर सरकार का फोकस, जल्द शुरू होगा पूर्वांचल एक्सप्रेसवे

नई दिल्ली/लखनऊ ।  उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सरकार का फोकस पांच प्रमुख परियोजनाओं पर है। ये सड़क और हवाई परिवहन से जुडीं परियोजनाएं हैं। चुनाव से पहले कुछ परियोजनाओं को पूरा करने की तैयारी है, तो कुछ का निर्माण बाद तक होता रहेगा। कुल चार एक्सप्रेसवे पर सरकार का खास ध्यान है। तीन हाईवे पर निर्माण चल रहा है तो एक का निर्माण अभी शुरू होना है। ये हाईवे उत्तर प्रदेश के हर हिस्से को कनेक्ट करेंगे। नोएडा के जेवर में प्रस्तावित इंटरनेशनल एयरपोर्ट का जल्द प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिलान्यास कर सकते हैं। इन परियोजनाओं को मुकाम मिलने से विधानसभा चुनाव में भाजपा के लिए विकास को चुनावी मुद्दा बनाने में आसानी होगी। पार्टी नेताओं को उम्मीद है कि इन विकास कार्यों से चुनाव जीतने में मदद मिलेगी।

जल्द शुरू होगा पूर्वांचल एक्सप्रेसवे——

यह एक्सप्रेसवे कुल 400 किलोमीटर लंबा बन रहा है। इस एक्सप्रेसवे से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ, पूर्वांचल के प्रमुख जिले गाजीपुर से सीधे जुड़ेगी। लगभग निर्माण पूरा हो गया है। सितंबर -अक्टूबर में इस एक्सप्रेसवे का लोकार्पण हो सकता है। वर्ष 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका शिलान्यास किया था, तब से निर्माण लगातार जारी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बलिया तक इस एक्सप्रेसवे के विस्तार करने के निर्देश दिए हैं।

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे

चित्रकूट से इटावा तक बन कुल 296 किमी के बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य योगी सरकार करा रही है। अगले साल अप्रैल तक निर्माण कार्य पूरा होने की उम्मीद है। एक्सप्रेसव परियोजना का अब तक 67.29 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। यमुना, बेतवा और केन नदी पर पुलों का निर्माण भी चल रहा है। चार लेन चौड़े इस एक्सप्रेसवे को भविष्य में छह लेन का भी किया जा सकता है। साल के आखिर या जनवरी-फरवरी के बीच इस एक्सप्रेसवे का एक साइड यातायात के लिए खोलने की तैयारी है।

पश्चिम को पूरब से जोड़ेगा गंगा एक्सप्रेसवे

उत्तर प्रदेश सरकार गंगा एक्सप्रेसवे का भी निर्माण सितंबर से शुरू करने की तैयारी में है। यह एक्सप्रेसवे कुल 594 किमी लंबा होगा। मेरठ से प्रयागराज को सीधे जोड़ने वाले इस एक्सप्रेसवे से उत्तर प्रदेश के विकास को गति मिलेगी। 80 से 90 प्रतिशत से अधिक भूमि का अधिग्रहण उत्तर प्रदेश सरकार ने कर लिया है। निर्माण से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस परियोजना का शिलान्यास कर सकते हैं।

गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे

गोरखपुर-आजमगढ़ लिंक एक्सप्रेसवे का निर्माण तेजी से चल रहा है। मार्च 2022 तक इस लिंक एक्सप्रेसवे का निर्माण पूरा कर लिए जाने की उम्मीद है। सूत्रों का कहना है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले इस परियोजना का लोकार्पण सरकार कर सकती है।

जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट

नोएडा के जेवर में प्रस्तावित इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों का फोकस है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार समीक्षा बैठकों में इस प्रोजेक्ट की पड़ताल करते हैं। हालांकि, कोविड के कारण यह प्रोजेक्ट एक साल की देरी का शिकार हो चुका है। योगी सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण के लिए फिलहाल चारदीवारी बनाने का कार्य शुरू हो चुका है। बताया जा रहा है कि जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के प्रथम चरण के लिए अधिग्रहित 1334 हेक्टेयर जमीन को समतल किया जाएगा और इसके बाद कार्य आगे बढ़ेगा। जेवर इंटरनेशल एयरपोर्ट के निर्माण की जिम्मेदारी स्विस कंपनी ज्यूरिख इंटरनेशनल एजी को मिली है। सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शिलान्यास करने के बाद इस एयरपोर्ट का निर्माण विधिवत शुरू होगा।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति