Thursday , October 28 2021

इंदौर में चूड़ी बेचने वाले तस्लीम की पिटाई का Pak कनेक्शन, प्रदेश में दंगों की थी साजिश: MP के गृह मंत्री का बड़ा खुलासा

मध्य प्रदेश के इंदौर में एक चूड़ी बेचने वाले तस्लीम की पिटाई का वीडियो सामने आया था। उसके खिलाफ छेड़छाड़ का भी मामला दर्ज है। अब इस मामले में पाकिस्तान एंगल भी जुड़ गया है। राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि चूड़ी बेचने वाले की गिरफ्तारी के बाद थाने का घेराव करने और भड़काऊ भाषण देने वाले एक शख्स का कनेक्शन पाकिस्तान से है। उन्होंने कहा कि पुलिस को इसके पुख्ता सबूत मिले हैं।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने ये भी जानकारी दी कि अल्तमस खान नाम का ये व्यक्ति असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ‘ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) से भी जुड़ा हुआ है। हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी अक्सर इस्लामी कट्टरवादी बयानों के कारण चर्चा में रहते हैं। पुलिस ने इस मामले में अल्तमश खान समेत 4 कट्टरपंथियों को गिरफ्तार किया है। इन सब ने मिल कर शहर के अलग-अलग इलाकों में दंगों की साजिश रची थी।

नरोत्तम मिश्रा ने जानकारी दी, “इंदौर में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश में शामिल और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी से जुड़े आरोपी अल्तमस खान के तार पाकिस्तान से जुड़े होने के भी सबूत मिले हैं। अल्तमस के पास से पुलिस को विभिन्न प्रकार की आपत्तिजनक सामग्रियाँ मिली हैं, जिससे प्रदेश की शांति व्यवस्था को खतरा था।” अल्तमस ने इंदौर में हाल ही में हुई चूड़ी वाली घटना के बाद इंदौर में थाने का घेराव किया था।

उसके पास से कई ऐसे वीडियो व तस्वीरें बरामद हुई हैं, जिनसे पता चलता है कि प्रदेश भर में दंगे भड़काने की साजिश थी। इन सभी से पूछताछ में कई खुलासे होने की संभावना है। चारों के खिलाफ IPC की धारा 153-ए (सांप्रदायिक सौहार्द्र पर विपरीत असर डालने वाला कार्य) और अन्य कानूनी प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है। ये लोग सोशल मीडिया के माध्यम से भी मुस्लिमों को भड़का रहे थे।

उक्त युवक तस्लीम खुद को हिंदू बताकर इलाके में चूड़ियाँ बेच रहा था, इसलिए भीड़ उग्र हो गई थी। युवक के पास से दो आधार कार्ड भी बरामद किए गए थे। वो उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले का रहने वाला है। आरजे शाएमा से लेकर कुमार विश्वास तक ने इस घटना को लेकर आपत्ति जताई थी और इसकी तुलना तालिबान तक से कर दी थी। अब खुलासा हुआ है कि इसके पीछे दंगे कराने की साजिश थी।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति