Thursday , October 28 2021

‘जावेद’ ने बनाया था मुस्लिम महिलाओं की अश्लील तस्वीरों वाला ‘Sullideals’ एप? देखें वायरल स्क्रीनशॉट्स

लखनऊ। हाल ही में एक इंटरनेट एप्लिकेशन को लेकर विवाद खड़ा हुआ था। ‘Sullideals’ नाम के इस एप की मदद से मुस्लिम महिलाओं को आपत्तिजनक रूप से दिखाने के आरोप लगे थे। अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने इस मामले का संज्ञान लिया है। आरोप लगे हैं कि मुस्लिम महिलाओं को डील के रूप में ऑफर करने वाले इस एप का निर्माण एक मुस्लिम व्यक्ति ने ही किया है।

इससे पहले इस्लामी कट्टरपंथियों ने आरोप लगाए थे कि हिन्दुओं ने इस एप को बनाया है और इसके माध्यम से मुस्लिमों को बदनाम किया जा रहा है। मेनस्ट्रीम मीडिया ने भी इसी नैरेटिव को आगे बढ़ाया था। अब ‘sullidealsXpose’ नाम के एक ट्विटर हैंडल ने आरोप लगाया है कि इस एप के पीछे जो व्यक्ति है, उसका नाम जावेद है। आरोप है कि जावेद ने @AnonMark3 और @AnonHindu4 नाम के दो ट्विटर हैंडल्स भी बना रखे हैं।

जहाँ एक हैंडल से हिन्दू महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक सामग्रियाँ प्रसारित की जा रही थीं, वहीं दूसरे से मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ अश्लील बातें की जा रही थीं। आरोप है कि ये दोनों ही हैंडल्स अश्लील सामग्रियों से भरे पड़े हैं। इस एप को एक्सपोज करने का दावा करने वाले ने एक मुस्लिम महिला से इस सम्बन्ध में सूचना मिलने की बात कही। जावेद के साथ एक मुस्लिम महिला की कथित बातचीत की स्क्रीन रिकॉर्डिंग भी शेयर हुई है।

इसमें जावेद को कुछ आपत्तिजनक टिप्पणियाँ करते हुए देखा जा सकता है। इस बातचीत के टेक्स्ट में ‘जावेद’ उक्त मुस्लिम महिला से अंतर-धार्मिक प्यार के बारे में पूछ रहा है, खासकर किसी हिन्दू पुरुष के साथ। ‘जावेद’ ने महिला से पूछा कि कैसे वो इस रिश्ते में आए, जिसके बाद महिला ने बताया कि उक्त व्यक्ति ने उसे प्रोपोज किया था। इस दौरान जावेद ने हिन्दू-मुस्लिम के बीच अंतर-धार्मिक रिश्ते को ‘सुंदर’ बताते हुए कहा कि ऐसे संबंधों की संख्या ज्यादा होनी चाहिए।

स्क्रीन रिकॉर्ड की मानें तो ‘जावेद’ इस बातचीत में खुद को हिन्दू दिखाते हुए एक घटना के बारे में बताता है। वो कहता है कि कॉलेज के दिनों में उसकी एक मुस्लिम गर्लफ्रेंड थी। उसने दावा किया कि अंतर-धार्मिक रिश्तों को बढ़ावा देने के लिए उसने ‘इंटरफेथ इरोटिका’ कंटेंट्स वाला हैंडल बनाया है। इसके बाद एक संभवतः टेलीग्राम कंवर्शेशन का स्क्रीन रिकॉर्ड शेयर किया गया, जिसमें पता चलता है कि ‘जावेद’ ने मुस्लिम महिलाओं के गलत इस्तेमाल के लिए एक एप बनाया है।

हालाँकि, इसमें कहीं ‘Sullideals’ का नाम नहीं लिया जाता है। जब उससे उन मुस्लिम महिलाओं के बारे में पूछा गया जिनकी तस्वीरों का उसने गलत इस्तेमाल किया, तो वो भद्दी भाषा का प्रयोग करते हुए कहते हैं कि वो सभी ‘वेश्याएँ’ थीं। वो कहता है कि उसने इसका कोई पछतावा नहीं है। एक कंवर्शेशन में वो बताता है कि कैसे उसने हिन्दुओं पर इस एप को बनाने की बदनामी डाल दी। उसकी पहचान मथुरा के GLA यूनिवर्सिटी के ‘जावेद आलम’ के रूप में बताई जा रही है।

एक्सपोज करने वाले हैंडल ने दो फोन नंबर्स मिलने का भी दावा किया है। 24 जुलाई, 2021 को एक मीडिया संस्थान ने जावेद से संपर्क करने का दावा किया था। इसमें उसने ‘Sullideals’ से अपना सम्बन्ध होने की बात नकार दी थी, लेकिन एक महिला के साथ इंटरफेथ रिलेशनशिप पर सामान्य बातचीत होने की बात कबूली थी। उसने धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाले बयान देने की बात भी नकार दी थी।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति