Saturday , September 18 2021

‘आओ टिकट ब्लैकमेलर..’: UP की सभी सीटों पर लड़ेगी AAP, नेटिजन्स ने लिए मजे

लखनऊ। साल 2022 के विधानसभा चुनावों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में आम आदमी पार्टी ने सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों से अकेले लड़ने का ऐलान किया है। प्रदेश में पार्टी के प्रभारी व राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी आने वाले चुनावों में अपने बलबूते पर खड़ी होगी और सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी।

संजय सिंह ने यह भी बताया कि सीटों पर प्रत्याशियों के नाम की घोषणा अगले 15 दिन के अंदर की जाएगी। अभी तक 120 सीटों के लिए उम्मीदवारों की सूची तैयार हुई है। AAP नेता का कहना है कि उनकी पार्टी इन चुनावों में भाजपा के फर्जी राष्ट्रवाद और AAP के असली राष्ट्रवाद के मुद्दे को लेकर चुनाव में उतरेगी।

उनके मुताबिक उनका राष्ट्रवाद हर गरीब के बच्चे को पढ़ने के लिए लिए बेहतर स्कूल देना है। मोहल्ला क्लिनिक की तरह हर गाँव में बेहतर अस्पताल प्रदान करना है। इसके अलावा दिल्ली की तरह 300 यूनिट बिजली भी उनका वादा है।

मालूम हो कि एक ओर जहाँ आम आदमी पार्टी जोर-शोर से भाजपा को हराने के प्रयासों में जुटी है, वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया पर इस ऐलान के बाद से नेटीजन्स ने अपनी प्रतिक्रिया देनी शुरू कर दी है। कुछ लोग जहाँ इसे बस एक शुरुआत मान रहे हैं और आने वाले समय में आप को केंद्र में बैठाने की उम्मीद लगाए बैठे हैं। तो कुछ लोग ऐसे भी हैं जो संजय सिंह द्वारा साझा की गई जानकारी पर कह रहे हैं कि AAP के किसी नेता में इतना दम नहीं है कि वो योगी आदित्यनाथ के सामने खड़ा हो सके।

कुछ यूजर्स संजय सिंह की एक पुरानी तस्वीर शुभम थिएटर के साथ शेयर करके कह रहे हैं, “क्षमा करें क्योंकि टिकटें आप की हैं इसलिए ब्लैक सम्भव नहीं। हार के लिए तैयार हो तो फ्री में लो और शर्मिंदा न हों।”

एक यूजर कहता है, “आओ टिकट ब्लैकमेलर, जमानत जब्त होंगी। ये दिल्ली नहीं हैं। यहाँ राजनीति में जनता ही बाप है।”

राहुल गर्ग संजय सिंह को लेकर कहते हैं, “इस बार ग*&^ के पास 403 टिकट हैं, ब्लैक करने के लिए।”

एक यूजर कहता है, “सोचों देशवासियों ये दिल्ली में अंधाधुंध पैसा कमा कर दूसरे प्रदेशों में बर्बाद कर रहा है, ये जानते हुए कि सारी सीटों पर ज़मानत जब्त होनी है। दिल्ली वालों ये आपका विकास नहीं आपको बर्बाद करेंगे।”

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति