Tuesday , October 19 2021

प्रयागराज: अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत, फांसी से लटकता मिला शव

प्रयागराज/लखनऊ। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का सोमवार को निधन हो गया है. नरेंद्र गिरि का शव प्रयागराज के उनके बाघंबरी मठ में ही फांसी के फंदे से लटकता मिला. उस कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था. पुलिस दरवाजा तोड़कर अंदर पहुंची तो उनका शव फंदे से लटका था. मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है. सूत्रों के मुताबिक इस सुसाइड नोट में शिष्य आनंद गिरि पर मानसिक तौर पर परेशान करने का आरोप लगाया गया है.

फिलहाल फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुंच चुकी है. भारी पुलिस फोर्स घटनास्थल पर मौजूद है. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर शोक व्यक्त किया है. अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा है कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरीजी का निधन अपूरणीय क्षति है. ईश्वर पुण्य आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान और उनके अनुयायियों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करें.

प्रयागराज के आईजी केपी सिंह ने बताया कि सात पन्नों का सुसाइड नोट मिला है जिसे वसीयत की तरह लिखा गया है. इस सुसाइड नोट में आनंद गिरि का भी नाम है. उन्होंने कहा कि महंत नरेंद्र गिरि को जानने वाले लोग ये बता रहे हैं कि हैंड राइटिंग उन्हीं की है. हम फॉरेंसिक जांच के बाद लेटर जारी करेंगे. आनंद गिरि ने आईजी की भूमिका को संदिग्ध बताते हुए कहा कि ये बड़ी साजिश है. उन्होंने कहा कि प्रदेश और देश की सरकार से निवेदन करता हूं कि निष्पक्ष जांच हो. इसमें बड़े लोग शामिल हैं. दोषी हूं तो सजा पाने को तैयार हूं.

पीएम मोदी, सीएम योगी ने जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम डॉक्टर दिनेश शर्मा, केशव प्रसाद मौर्य, पूर्व सीएम अखिलेश यादव समेत कई नेताओं ने महंत नरेंद्र गिरि की मौत पर दुख व्यक्त किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरिजी का देहावसान अत्यंत दुखद है. आध्यात्मिक परंपराओं के प्रति समर्पित रहते हुए उन्होंने संत समाज की अनेक धाराओं को एक साथ जोड़ने में बड़ी भूमिका निभाई. प्रभु उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें.

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि महंत नरेंद्र गिरिजी का ब्रह्मलीन होना आध्यात्मिक जगत की अपूरणीय क्षति है.

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी ट्वीट कर महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर शोक व्यक्त किया है.

सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर पुण्य आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें और उनके अनुयायियों को ये दुख सहने की शक्ति प्रदान करें.

स्वामी चक्रपाणि ने की निष्पक्ष जांच की मांग

स्वामी चक्रपाणि ने वीडियो संदेश जारी कर महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर शोक व्यक्त किया और इसे संत समाज के लिए अपूरणीय क्षति बताया. स्वामी चक्रपाणि ने कहा कि संत कभी आत्महत्या नहीं कर सकता. इसकी निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए. कई अन्य साधु-संतों ने भी  गौरतलब है कि आचार्य नरेंद्र गिरि देश की आध्यात्मिक परंपरा 13 अखाड़ों के संघ अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष थे. महामंडलेश्वर के चयन में भी उनकी अहम भूमिका रहती थी.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति