Sunday , June 26 2022

BIG NEWS: एक मुस्लिम महिला के कारण अखिलेश यादव और राजा भैया में मतभेद- एसपी नेता अबू आजमी का दावा

उन्नाव/लखनऊ। अपने बयानों से सुर्खियों और विवादों में रहने वाले समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) नेता अबू आजमी (Abu Azmi) ने एक बार फिर अपने बयान से चौंका दिया है. समाजवादी पार्टी के महाराष्ट्र यूनिट के अध्यक्ष अबू आजमी ने मंगलवार को यह दावा किया कि यूपी के बाहुबली विधायक राजा भैया (MLA Raja Bhaiyya) और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के बीच दूरियों की वजह एक मुस्लिम औरत है. जिसके कारण अखिलेश यादव ने राजा भैया को अपनी टीम से बाहर कर दिया था.

6 बार निर्दलीय विधायक रहे राजा भैया समाजवादी पार्टी के काफी करीबी थे और अखिलेश यादव की सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे थे. 2018 में हुए राज्यसभा चुनाव में एसपी प्रत्याशी को वोट देने के वादे के बावजूद उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार को वोट दिया. क्योंकि उनका मानना था कि एसपी प्रत्याशी को वोट देने से उनकी विरोधी रही मायावती को मदद मिलेगी. दरअसल राज्य में बीजेपी गठबंधन को रोकने के लिए एसपी और बीएसपी साथ आ गए थे.

उन्नाव में समाजवादी पार्टी की परिवर्तन यात्रा को संबोधित करते हुए अबू आजमी ने कहा कि राज्य की 15 फीसदी मुस्लिम आबादी बीजेपी के खिलाफ है. अबू आजमी बोले कि भारतीय जनता पार्टी सिर्फ पाकिस्तान के नाम पर राजनीति करना चाहती है. उन्होंने कहा कि मीडिया बीजेपी के पक्ष में होकर गलत खबरें दिखा रहा है.

इस दौरान अबू आजमी ने दावा किया कि अखिलेश यादव ने कद्दावर नेता राजा भैया को एक मुस्लिम महिला के कारण पद से हटा दिया. पुलिसकर्मी की पत्नी ने अखिलेश यादव से ऐसा करने को कहा था. उन्होंने यह भी कहा कि सब जानते हैं कि अखिलेश यादव ने राजा भैया से जुड़े विवाद में आईपीएस अधिकारी को जांच के आदेश दिए थे.

एक इंटरव्यू में उन्होंने विवादित बयान देते हुए कहा था कि घर में अकेली बेटी और बहन के साथ मत रहो, शैतान कभी भी सवार हो सकता है. दरअसल उनका यह बयान उस वक्त आया था जब केंद्र सरकार लड़कियों की शादी की उम्र 21 साल करने को लेकर कैबिनेट में प्रस्ताव लेकर आई थी. इस पर अबू आजमी ने कहा था कि, जब लड़का-लड़की वयस्क हो जाते हैं तो जल्दी उनकी शादी कर देनी चाहिए या एक अच्छे जीवनसाथी की तलाश के लिए इंतजार करना चाहिए.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.