Wednesday , May 25 2022

पंखे से लटकी मिली कर्नाटक के पूर्व CM येदियुरप्पा की नातिन, बेंगलुरु के अस्पताल में डॉक्टर थीं 30 साल की सौंदर्या

कर्नाटक (karnataka) के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) की नातिन सौंदर्या (Soundarya) की लाश बेंगलुरु के एक निजी अपार्टमेंट में मिली है। सौंदर्या की लाश पंखे से लगे फंदे पर झूलते हुए मिली। इसके बाद उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बॉरिंग एंड लेडी कर्जन अस्पताल में शव का पोस्टमॉर्टम किया जा रहा है। आशंका जताई जा रही है कि सौंदर्या ने आत्महत्या की है। हालाँकि, अभी कारणों का पता नहीं चला है।

30 साल की सौंदर्या येदियुरप्पा की बेटी पद्मा की पुत्री थीं और वह बेंगलुरु के एमएस रमैया अस्पताल में डॉक्टर थीं। साल 2019 में डॉक्टर नीरज के साथ उनका विवाह हुआ था। वह अपने पति और लगभग छह महीने के बच्चे के साथ सेंट्रल बेंगलुरु के माउंट कार्मेल कॉलेज के पास स्थित एक अपार्टमेंट में रह रही थीं। जानकारी के मुताबिक, गर्भावस्था के बाद सौंदर्या में डिप्रेशन के लक्षण दिख रहे थे।

घटना शुक्रवार (28 जनवरी 2022) के सुबह करीब 10 बजे की है। बताया जा रहा है कि जब घर के नौकर ने उनके कमरे का दरवाजा खटखटाया, तो अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। इसके बाद उसने उनके पति डॉ नीरज को फोन किया। नीरज ने दरवाजा खोला तो देखा कि सौंदर्या बेडरूम में पंखे से लटकी हुई हैं। पुलिस ने बताया कि मिले सबूतों के आधार पर प्रथम दृष्टया यह मामला आत्महत्या का है।

घटना की जानकारी मिलते ही कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई अपने कैबिनेट के सहयोगियों और भाजपा के दिग्गज नेताओं के साथ अस्पताल पहुँचे। भाजपा नेताओं ने येदियुरप्पा और उनके परिवार को सांत्वना दी।

बीजेपी नेता और कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा की नातिन सौंदर्या की संदिग्ध मौत ने सबको हैरान कर दिया है. हालांकि इस मामले को खुदकुशी बताया जा रहा है. माना जा रहा है कि वारदात से पहले सौंदर्या ने अपने बच्चे को दूसरे कमरे में छोड़ा. फिर अपने कमरे में आकर फांसी लगाई.

घर में लाश

बेंगलुरु में शुक्रवार यानी 28 जनवरी को रोज की तरह सौंदर्या के पति डॉ. नीरज सुबह 8 बजे अपने ऑफिस के लिए निकल गए थे. घर पर सौंदर्या और उनका बच्चा अकेले थे. कुछ देर बाद डॉक्टर नीरज को उनकी नौकरानी ने कॉल किया और बताया कि मैडम (सौंदर्या) दरवाजा नहीं खोल रही हैं. ये बात सुनकर डॉ. नीरज परेशान हो गए और वो घर की तरफ वापस लौट गए.

घर लौटे नीरज

दौड़ते-भागते डॉक्टर नीरज अपने घर आए और दरवाजा तोड़कर घर में दाखिल हुए. एक कमरे का मंजर देखकर उनके होश उड़ गए. उस कमरे में सौंदर्या की लाश फांसी के फंदे पर झूल रही थी. डॉक्टर नीरज अपनी पत्नी को इस हाल में देखकर बेहाल थे. घटना की सूचना फौरन पुलिस को दी गई.

मौके पर पहुंची पुलिस

पुलिस उनके फ्लैट पर पहुंची और सौंदर्या की लाश को नीचे उतारा गया. इसके बाद पुलिस ने पंचनामे की कार्रवाई को अंजाम दिया और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए बेंगलुरु के बॉरिंग एंड लेडी कर्जन अस्पताल भेजा गया. पुलिस ने मौका-ए-वारदात पर अच्छे से छानबीन की. ताकि कोई सुराग मिल सके. लेकिन कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला. इस मामले में अप्राकृतिक मौत की FIR हाई ग्राउंड थाने में दर्ज कराई जा रही है.

दूसरे कमरे में मिला बच्चा

माना जा रहा है कि सौंदर्या अपने बच्चे को एक कमरे में छोड़कर गईं और फिर दूसरे कमरे में जाकर फांसी लगा ली. सौंदर्या के माता-पिता को जब ये दुखद समाचार मिला, तब वह हुबली में थे. बताया जा रहा है कि सौंदर्या का अंतिम संस्कार बेंगलुरु के बाहरी इलाके मौजूद डॉ. नीरज के फार्म हाउस में किया जा सकता है.

डॉक्टर थी सौंदर्या

जानकारी के मुताबिक येदियुरप्पा की नातिन सौंदर्या खुद भी एक डॉक्टर थीं और उनकी उम्र महज 30 साल थी. उनकी शादी डॉक्टर नीरज के साथ दो साल पहले हुई थी. सौंदर्या चार महीने के बच्चे की मां थीं.

डिप्रेश का शिकार थी सौंदर्या

जानकारी के मुताबिक, सौंदर्या येदियुरप्पा की सबसे बड़ी बेटी पद्मा की बेटी थीं. कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा कि सौंदर्या गर्भावस्था के बाद होने वाले डिप्रेशन का शिकार थीं. इस मामले में कुछ भी संदिग्ध नहीं है, सब उनके डिप्रेशन के बारे में जानते हैं.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति