Wednesday , May 25 2022

रूस कर सकता है जासूसी सैटेलाइट्स पर हमला, अमेरिका ने दी चेतावनी

रूस (Russia) जब से यूक्रेन (Ukraine) को घेरने की तैयारी में था, तब से यूक्रेन और दुनिया के अन्य कई देशों की जासूसी और निगरानी सैटेलाइट्स के जरिए इसकी गतिविधियों पर नजर रख रहे थे. जिसकी वजह से रूस को कई बार वैश्विक स्तर पर जवाब देना पड़ा है. अब अमेरिका के नेशनल रीकॉनसेंस ऑफिस (National Reconnaissance Office – NRO) के प्रमुख ने कहा है कि रूस यूक्रेन समेत कई अन्य देशों के जासूसी उपग्रहों को मार कर गिरा सकता है.

Russian Military Target Satellite

Space News की खबर के अनुसार NRO निदेशक क्रिस्टोफर स्कोलीज ने 23 फरवरी 2022 को अमेरिका में चल रहे नेशनल सिक्योरिटी स्पेस एसोसिएशंस डिफेंस एंड इंटेलिजेंस स्पेस कॉन्फ्रेंस (National Security Space Association’s Defense and Intelligence Space Conference) में यह आशंका जताई कि रूस इस समय उसकी तैयारियों को लेकर जारी सैटेलाइट इमेज से नाराज है. वह यूक्रेन में जो करना चाहता है, वह करके मानेगा. रूस यूक्रेन को जीतना चाहता है.

Russian Military Target Satellite

क्रिस्टोफर स्कोलीज ने कहा कि यह आशंका जताना गलत नहीं होगा कि रूस किसी भी समय यूक्रेन समेत उन सभी देशों की जासूसी उपग्रहों पर हमला कर सकता है, जो उस पर निगरानी रख रहे हैं. क्योंकि अगर युद्ध की दिशा बिगड़ी और यह और भयावह हुआ तो इस बार का युद्ध अंतरिक्ष तक जा सकता है. यह सिर्फ जल, जमीन और वायु तक सीमित नहीं रहेगा.

Russian Military Target Satellite

क्रिस्टोफर स्कोलीज ने यह साफ-साफ नहीं बताया कि रूस की तैयारियां किस तरह की हैं. लेकिन उन्होंने बताया कि रूस पहले ही यूक्रेन के आसपास GPS को बंद कर चुका है. उसे जैम कर चुका है. इसलिए क्रिस्टोफर स्कोलीज ने दुनियाभर के कॉमर्शियल और सरकारी सैटेलाइट संचालकों को सचेत करते हुए कहते हैं कि इस समय आपको ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत है.

Russian Military Target Satellite

NRO चीफ क्रिस्टोफर ने कहा कि वो पूरी दुनिया को यह बता बताएंगे क्योंकि यह सबको जानना जरूरी है. अगर रूस ने किसी भी देश के सैटेलाइट को मारकर गिराया तो वह बड़े स्तर के युद्ध को बढ़ावा देगा. हालांकि, हमारी संस्थाएं और टेक्नीशियन लगातार रूस की हरकतों पर नजर रख रहे हैं. ताकि वो यूक्रेन और अमेरिका समेत दुनिया के अन्य सैटेलाइट्स पर हमला न कर सके.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति