Tuesday , June 28 2022

‘अग्निपथ’ के जरिए सेना में नौकरी का बड़ा मौका, होगी ‘अग्निवीरों’ की भर्ती: ₹48 लाख का बीमा, ₹11 लाख का ‘सेवा निधि पैकेज’, आगे जॉब में मदद भी

नई दिल्ली। भारत सरकार ने ‘अग्निपथ योजना’ के जरिए देश के युवाओं को ‘अग्निवीर’ बन कर नौकरी और देशसेवा, दोनों का अवसर दिया है। इसके सेहत साढ़े 17 साल से लेकर 21 वर्ष तक के युवाओं की तीनों सेनाओं के लिए भर्ती की जाएगी। प्रशिक्षण समेत कुल सेवा अवधि 4 वर्षों की होगी। सम्बंधित सेवा अधिनियम एवं विनियम के तहत ये बहाली होगी। इसके लिए पारदर्शी, स्वचालित और केंद्रीकृत चयन प्रक्रिया को अमल में लाया जाएगा।

ये योजना पूरे देश के लिए होगी, जिसमें सभी वर्गों को मौका मिलेगा। अग्निवीरों के केंद्रीकृत डेटा एवं रिकार्ड्स रखे जाएँगे। हालाँकि, सम्बंधित पद के लिए इन ‘अग्निवीरों’ को मेडिकल शर्तों को पूरा करना होगा। उन्हें ‘रेगुलर कैडर’ में नामांकन का मौका भी मिलेगा। हर एक बैच के 25% ‘अग्निवीरों’ को भारतीय सेना के ‘रेगुलर कैडर’ के लिए चुना जाएगा। उन्हें पहले वर्ष में 4.76 लाख रुपए का सालाना वेतन मिलेगा, जो अंतिम वर्ष में बढ़ कर 6.92 लाख रुपए हो जाएगा।

उन्हें ब्याज सहित 11.71 लाख रुपए का सेवा निशि पैकेज भी सेवा पूरी करने के बाद दिया जाएगा, जिस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। साथ ही उन्हें 48 लाख रुपए के बीमा का लाभ भी दिया जाएगा। सेवा पूरी करने के बाद उन्हें ‘अग्निवीर कौशल प्रमाण पत्र’ मिलेगा। इतना ही नहीं, सेवा पूरी करने के बाद उनकी अगली नौकरी की तलाश में भी मदद की जाएगी। ‘सेवा निधि पैकेज’ में ‘अग्निवीर’ और सरकार दोनों रुपए डालेंगे, जिस पर उठा ब्याज भी उन्हें मिलेगा।

उन्हें बैंक लोन लेने का विकल्प भी दिया जाएगा। इसकी घोषणा करते हुए केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारतीय सेनाओ को विश्व की बेहतरीन सेना बनाने की दिशा में आज ‘कैबिनेट कमिटी ऑन सिक्योरिटी (CCS) ने ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए ‘अग्निपथ’ नामक एक बदलावकारी योजना लाने का निर्णय लाया है, जो सशस्त्र बलों में ट्रांसफॉर्मेशन वाले बदलाव लाकर उन्हें पूरी तरह आधुनिक और अच्छी तरह सुसज्जित बनाएगी।

उन्होंने कहा कि ‘अग्निपथ योजना’ के अंतर्गत यह प्रयास किया जा रहा है कि भारतीय सशस्त्र बलों की प्रोफ़ाइल उतना ही नवयुवा हो, जितना कि भारतीय जनसंख्या के एक बड़े हिस्से की प्रोफ़ाइल है। उन्होंने कहा कि इसका फायदा ये होगा कि इससे नई तकनीकों के लिए प्रशिक्षण में आसानी होगी और उनकी स्वास्थ्य एवं फिटनेस का स्तर भी बेहतर होगा। उन्होंने कहा कि इससे न सिर्फ रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, बल्कि ‘अग्निवीर’ सेवा के दौरान अर्जित कौशल और अनुभव से अन्य क्षेत्रों में भी उन्हें रोजगार प्राप्त होंगे।

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि इससे भारतीय अर्थव्यवस्था को भी उच्च कौशल वाला एक वर्कफोर्स प्राप्त होगा, जिससे उत्पादन क्षमता बढ़ेगी और इससे देश की GDP के विकास में योगदान होगा। ‘सेवा निधि पैकेज’ के अलावा ‘अग्निवीरों’ को ‘डेथ एंड डिसेबिलिटी पैकेज’ भी प्राप्त होगा। भाजपा ने कहा कि ये फैसला भारत का भविष्य और उज्ज्वल करेगा, हमारी सेना को और मजबूत बनाएगा एवं देश के युवाओं को देश की सेवा करने का अवसर प्रदान करेगा।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.