Friday , October 7 2022

भारत-पाक मैच के बाद ब्रिटेन में कैसे भड़की सांप्रदायिक हिंसा

लंदन। ब्रिटेन (United Kingdom) के लीसेस्‍टर (Leicester) में सांप्रदायिक हिंसा (Communal violence) को लेकर पुलिस ने 15 लोगों को गिरफ्तार किया है. यह मामला भारत-पाकिस्तान के बीच हुए मैच के परिणाम के बाद शुरू हुआ था. लीसेस्टरशायर पुलिस के अनुसार, रविवार को पूर्वी लीसेस्टर में युवकों के एक समूह ने अनियोजित विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था. पुलिस द्वारा एक ट्विटर अपडेट में कहा गया है कि रविवार, 18 सितंबर को पूर्वी लीसेस्टर में आगे अव्यवस्था को रोकने के लिए एक पुलिस अभियान चलाया गया. इस अभियान को घुड़सवार पुलिस इकाई सहित कई पड़ोसी पुलिस बलों ने अपने संसाधनों सहित समर्थन दिया.

वहीं, समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, यह बात ब्रिटेन के लीसेस्टर शहर में पाकिस्तानी संगठित गिरोहों द्वारा की गई तोड़फोड़ और हिंदुओं को आतंकित करने के बारे में सोशल मीडिया पर विभिन्न वीडियो और रिपोर्ट प्रसारित होने के बाद सामने आई है. News18 को हिंदुओं-मुसलमानों के बीच हुई हिंसा की इनसाइड स्‍टोरी मिली है. इस अंदरूनी जानकारी के अनुसार इन हिंसक झड़प और हमलों में पाकिस्तान की प्रमुख खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) और पाकिस्तान वाणिज्य उच्चायोग की भूमिका सवालों के घेरे में है.

सूत्रों के अनुसार, ये झड़प 28 अगस्त को शुरू हुई थी जब लीसेस्टर में एक मुस्लिम रेस्तरां ने भारत और पाकिस्तान के बीच पहले एशिया कप मैच के अंतिम परिणाम से पहले भारतीय ध्वज का अनादर किया था. इससे भारत और पाकिस्तान के समूहों के बीच तनाव पैदा हो गया था. दरअसल यह मैच भारत ने जीता था और भारतीय फैंस ने स्‍थानीय प्रशासन की अनुमति लेकर झंडे लहराए और पटाखों के साथ जीत का जश्‍न मनाया था. वहीं, सूत्रों ने बताया कि स्थानीय इमाम ने कहा कि वे परेशानी पैदा कर रहे हैं.

स्‍टेडियम में जमा हुआ समूह और फिर कई जगहों पर तोड़फोड़ की
सूत्रों ने कहा कि 4 सितंबर को, जब पाकिस्तान ने मैच जीता, तो इसको लेकर पाकिस्तानी पक्ष ने बर्मिंघम से लगभग 10,000 युवाओं को लाकर हंगामा किया. सूत्रों के मुताबिक हिंसा की कई घटनाओं के बीच गणेश चतुर्थी मनाने वाले एक हिंदू घर पर हमला किया गया. एक युवा हिंदू पुरुष को चाकू मारने की कोशिश की गई और जब उसकी चाची ने बचाने की कोशिश की तो उनसे मारपीट की गई. सूत्रों ने कहा कि एक समूह स्टेडियम में इकट्ठा हुआ और उसने फोन पर कहा कि इस्लाम खतरे में है.

सूत्रों ने कहा कि कुछ युवकों ने स्थानीय हनुमान मंदिर को भी अपवित्र किया. सूत्रों ने कहा कि हमले तीसरे दिन भी जारी रहे, जब कई मुस्लिम युवाओं ने तोड़फोड़ की. सूत्रों ने कहा कि धार्मिक प्रतीकों की मदद से पहचाने गए घरों को निशाना बनाया गया और कम से कम 50 घरों और कई कारों के साथ घरों में तोड़फोड़ की. सूत्रों ने कहा कि एक अन्य घटना में, एक व्यक्ति ने हिंदू लड़कियों के गरबा (नवरात्रि के दौरान किया जाने वाला नृत्य) वाले एक समूह के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया.

हम शांति की अपील कर रहे, किसी हिंसा में शामिल न हों 

शनिवार रात को हुई झड़प की रिपोर्ट के बाद, लीसेस्टरशायर पुलिस के अस्थायी मुख्य कांस्टेबल रॉब निक्सन ने ट्विटर हैंडल पर साझा किए गए एक वीडियो मैसेज में कहा कि शनिवार, 17 सितंबर को हमें लीसेस्टर की सड़कों पर अव्यवस्था की कई रिपोर्टें मिली हैं. हम स्थिति को नियंत्रित कर रहे हैं. अतिरिक्‍त अधिकारी और बल को लगाया गया है, उपद्रव करने वालों को पकड़ने के लिए अभियान शुरू कर दिया गया है. किसी भी हिंसा में शामिल न हों. हम सभी से शांति का आह्वान कर रहे हैं. इलाके में
लंदन पुलिस ने चौकसी बढ़ा दी है. पुलिस कमिश्नर को स्ट्रीट क्राइम कंट्रोल करने को कहा गया है.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.