Monday , December 5 2022

‘सरकार सपा की बनी थी, पर EC ने मुस्लिम-यादवों के वोट ही काट दिए’: UP चुनाव के महीनों बाद छलका अखिलेश यादव का दर्द, PM रेस से खुद को बाहर किया

लखनऊ। इस समय विपक्ष में कई ऐसे नेता हैं, जो खुद को प्रधानमंत्री पद का सबसे मजबूत दावेदार मान रहे हैं। वहीं, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने इशारों-इशारों में यह स्पष्ट कर दिया है कि वह प्रधानमंत्री की रेस में नहीं हैं। यह बयान उन्होंने लखनऊ में गुरुवार (29 सितंबर 2022) को समाजवादी पार्टी के दो दिन के सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद दिया। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि वह बीजेपी को हराने के लिए अहम भूमिका निभाना चाहते हैं।

सपा के अध्यक्ष ने पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, “ये लड़ाई बड़ी है। हमारा उस स्थान (पीएम पद) पर पहुँचने का कोई सपना नहीं है। समाजवादियों का केवल एक ही सपना है समाज को बाँटने वाली ताकतों को बाहर निकालने का।”

अखिलेश यादव ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा, “भले ही सपा हाल के चुनावों में हार गई हो, लेकिन इन नतीजों ने साफ कर दिया है कि यूपी में सिर्फ समाजवादी पार्टी ही है, जो बीजेपी को हरा सकती है।”

समाजवादी पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल पर अखिलेश यादव का वीडियो भी शेयर किया है। इस वीडियो में वह कह रहे हैं,

“सरकार जो बनी है ये जनता की बनाई हुई नहीं है, ये सरकार आपकी छीनी है इन्होंने। जनता को भी भरोसा नहीं हुआ कि ये सरकार कैसे बन गई। यूपी में समाजवादियों की सरकार बन गई थी, लेकिन पूरी की पूरी मशीनरी लगाकर आपकी सरकार छीनी गई। जिससे हमें सबसे ज्यादा उम्मीद थी उस इलेक्शन कमीशन ने बीजेपी के इशारे पर सपा के वोटरों के नाम वोटर लिस्ट से काटे। जानबूझ कर हमारे यादव और मुस्लिमों के वोट कम कर दिए। जाँच करके देख लें तो, पता चल जाएगा कि 20000-20000 हजार वोट हमारे वहाँ से जानबूझ कर उड़ा दिए गए।”

बता दें कि अखिलेश यादव को आज (29 सितंबर 2022) लगातार तीसरी बार समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया है। चुनाव अधिकारी और पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव (Ram Gopal Yadav) ने सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश यादव के निर्विरोध पार्टी अध्यक्ष चुने जाने का ऐलान किया।”

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published.