शिवसेना सोनिया से पूछा-याकूब की फांसी का विरोध करने वाला ही उपराष्ट्रपति उमीदवार क्यों

नई दिल्ली। यूपीए द्वारा उपराष्ट्रपति चुनाव में गोपाल कृष्ण गांधी को उम्मीदवार बनाए जाने पर शिवसेना ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर निशाना साधा है. शिवसेना नेता संजय राउत ने पूछा है कि क्या आप गोपाल कृष्ण गांधी को वोट करेंगे, जिन्होंने मुंबई में 1993 में हुए धमाके के दोषी याकूब मेमन की फांसी का विरोध किया था.

संजय राउत ने कहा है, ‘’मैं सोनिया गांधी जी से पूछना चाहता हूं कि नैरो माइंडेड की डेफिनेशन आप बताइए. आपसे मैं एक ही सवाल पूछता हूं. मैडम जी उपराष्ट्रपति चुनाव पद के लिए आपने गोपाल कृष्ण गांधी को उम्मीदवार बनाया है. सोनिया गांधी ने किस आधार पर उनको उम्मीदवार बनाया है?’’

राउत ने आगे कहा, ‘’गोपाल कृष्ण गांधी ने मुंबई में 1993 में हुए धमाके के दोषी याकूब मेमन की फांसी का विरोध किया था. ऐसे याकूब की फांसी रोकने के लिए गोपाल गांधी ने पूरी ताकत लगा दी थी और राष्ट्रपति को भी लेटर लिखा था और देश के सामने कहा था कि उनकी फांसी रुकनी चाहिए. ऐसे में इस व्यक्ति के उम्मीदवार बनाना सोनिया जी का नैरो माइंड है या बड़ा माइंड है.’’

बता दें आतंकी याकूब मेनन की फांसी रुकवाने के लिए गोपाल गांधी ने राष्ट्रपति को ख़त लिखकर यह गुजारिश की थी कि याक़ूब की फांसी की सज़ा रद्द की जाए. अपनी दलील में गोपालकृष्ण गांधी ने कहा था कि जब याकूब ने भारतीय व्यवस्था के सामने खुद को सुपुर्द किया और उससे कानून से सहयोग की बात भी सामने आई हो तब उसे फांसी दिए जाना ठीक नहीं.

loading...

कौन हैं गोपाल कृष्ण गांधी?

18 विपक्षी पार्टियों ने उपराष्ट्रपति पद चुनाव के लिए गोपाल कृष्ण गांधी को अपना उम्मीदवार बनाया है. वह महात्मा गांधी के पड़पोते हैं. गांधी रिटार्यड आईएएस अधिकारी और राजनयिक हैं. साल 2004 से 2009 के बीच वो पश्चिम बंगाल के गवर्नर रहे.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जयपुर: बच्चों को स्कूल से मेले में भेजा, सिखाया लव जिहाद से बचने का तरीका!

जयपुर। राजस्थान सरकार ने प्रदेश की सरकारी और निजी