प्रद्युम्न के शरीर पर नहीं मिले यौन शोषण के सबूत- डॉक्टर का खुलासा

गुडगांव। रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न के शरीर पर यौन शोषण से संबंधित किसी तरह के कोई निशान नहीं मिले हैं. सरकारी डॉक्टर दीपक माथुर के मुताबिक उसकी मौत ज्यादा खून बहने के वजह से हुई है, क्योंकि कातिल ने उसकी गर्दन पर चाकू से दो वार किए थे.

प्रद्युमन की मौत के बाद उसके शव की जांच करने वाले सरकारी डॉक्टर दीपक माथुर ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि उसकी मौत का कारण ज्यादा खून बह जाना था. हालांकि उसके शरीर पर कहीं भी यौन शोषण से संबंधित कोई निशान नहीं मिले हैं.

इससे पहले धारा 164 के तहत रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दो बच्चों के बयान दर्ज किए गए हैं. दोनों बच्चों ने मजिस्ट्रेट और एसआईटी टीम के सामने बताया कि उन्होंने कंडक्टर अशोक को घटना के ठीक पहले बाथरूम में देखा था. इस मामले में पुलिस को कुछ और जानकारियां भी मिली हैं.

बच्चों के बयान के मुताबिक उस वक्त स्कूल के टॉयलेट में कुल तीन बच्चे थे. प्रद्युम्न की हत्या से पहले तीनों बच्चों ने कंडक्टर अशोक को टॉयलेट के अंदर देखा था. दरअसल, ये तीनों बच्चे अपनी ताइक्वांडो ड्रेस चेंज करने के लिए वहां गए थे.

बच्चों ने अपने बयान में खुलासा किया है कि उस वक्त एक माली भी टॉयलेट के अंदर था. उसने भी कंडक्टर को टॉयलेट के अंदर देखा था. इसके बाद चारों टॉयलेट के बाहर चले गए थे. इसी बीच मौका पाकर उसी वक्त अशोक ने बच्चे की हत्या कर दी.

आरोपी न्यायिक हिरासत में

loading...

बता दें कि आरोपी बस कंडक्टर अशोक को तीन दिन की पुलिस रिमांड के बाद सोहना कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 18 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. सोहना कोर्ट में पेशी के लिए लाए गए आरोपी अशोक पर लोग भड़क गए और पीटने की कोशिशों के बीच काफी हंगामा हुआ. इसी बीच रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बस ड्राइवर सौरभ राघव ने चौंकाने वाला खुलासा किया. उसने बताया कि हत्या में इस्तेमाल चाकू टूल किट का हिस्सा नहीं था.

सौरभ ने ‘आज तक’ संवाददाता से बातचीत में बताया कि उसकी बस के टूल किट में चाकू नहीं था. टूल किट में चाकू होने की बात कहने के लिए स्कूल मैनेजमेंट की ओर से दबाव बनाया गया था. सौरभ ने बताया, घटना के बाद उसने अशोक की शर्ट पर खून के निशान देखे थे.

इस बारे में पूछे जाने पर अशोक ने सौरभ से कहा कि वह खून से लथपथ प्रद्युम्न को कार तक लेकर गया था. इसी वजह से उसकी शर्ट पर खून लग गया. सौरभ की मानें तो अशोक से कई बार स्कूल का टॉयलेट इस्तेमाल करने को लेकर मना किया गया था, इसके बावजूद वह उस टॉयलेट में जाता था.

ये है पूरा मामला

बीते शुक्रवार गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के मासूम प्रद्युम्न की गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. कत्ल का इल्जाम स्कूल बस के कंडक्टर अशोक पर लगा. पुलिस पूछताछ में अशोक ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. अशोक ने पुलिस को बताया कि उसने प्रद्युम्न के साथ कुकर्म करने की कोशिश की थी. नाकाम होने पर पकड़े जाने के डर से उसने प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या कर दी.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जयपुर: बच्चों को स्कूल से मेले में भेजा, सिखाया लव जिहाद से बचने का तरीका!

जयपुर। राजस्थान सरकार ने प्रदेश की सरकारी और निजी