रेणुका का दावा, कि धोती पहनने से प्रजनन क्षमता बढ़ती है

लखनऊ। यह पहली बार नहीं है, जब रेणुका चौधरी चर्चा में आयी हैं। 1997 में एक प्लॉट में कब्ज़े को लेकर रेणुका के तीन समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में लिया। बताते हैं कि इस कब्‍जे की खबर के बारे में जब रेणुका ने सुना था तो वो गुस्से में तमतमाते हुए पुलिस थाने में दाखिल हुईं और अपने समर्थकों को थाने से लेकर निकल पड़ीं। कहने की जरूरत नहीं है कि मुख्यमंत्री नायडू को अपनी पार्टी की इस नेता की इस हरकत पर खासी शर्मिंदगी उठानी पड़ी थी।

रेणुका के इस दौर के दो बयानों ने काफी सुर्खियां बंटोरी थीं. रेणुका ने चंद्रबाबू नायडू को ‘बस स्टैंड के पास खड़ा जेबकतरा’ बताया था। इससे कुछ वक्त पहले ही रेणुका ने पार्टी की नेता और राज्यसभा सांसद जयप्रदा को ‘बिंबो’ कहा था. बिंबो का एक अर्थ कमअकल खूबसूरत औरत भी होता है. इन बयानों पर भी खूब देश-व्‍यापी हंगामा खड़ा हो चुका है। लेकिन इसके बावजूद चौधरी अपनी जुबान पर कभी भी लगाम नहीं लगा पायीं, और लगातार ऐसे ही कमेंट देती ही रहीं, जिससे आलोचकों की घेराबंदी कसती जाए।

साल 2011 में रेणुका ने कहा था, ‘मैं तो अपने पति को धोती में देखना चाहती हूं. लेकिन वो धोती पहनते नहीं हैं. धोती पहने हुए मर्द अच्छे लगते हैं. सूट-पैंट बकवास हैं. अब चूंकि मैं स्वास्थ्य मंत्री रह चुकी हूं तो मेरे पास ये तथ्य हैं कि धोती से प्रजनन क्षमता बढ़ती है.’ रेणुका के इस बयान पर जमकर हंगामा हुआ था…समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, साल 2015 में एयर इंडिया की एक फ्लाइट सिर्फ़ इस वजह से वक्त पर उड़ान नहीं भर पाई, क्योंकि रेणुका चौधरी शॉपिंग करने में व्यस्त थीं

Loading...

2004 में मंत्रालय संभालने के एक महीने के भीतर 125 करोड़ रुपये खर्च करने को लेकर रेणुका की तत्कालीन वित्त मंत्री चिदंबरम से अनबन की ख़बरों ने भी अख़बारों में जगह बनाई थी..

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अभी लोकसभा चुनाव हों तो एनडीए की वापसी लेकिन बीजेपी को अपने दम पर नहीं मिलेगा बहुमत-सर्वे

नई दिल्ली। 2019 लोकसभा चुनाव की तैयारी में सभी