केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे की गिरफ्तारी को लेकर आरोप-प्रत्यारोप शुरू

पटना। केंद्रीय राज्य मंत्री और बीजेपी नेता अश्विनी चौबे के बेटे की गिरफ्तारी को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. विपक्षी दलों ने बिहार की नीतीश सरकार और बीजेपी पर आरोप लगाया है कि अश्विनी चौबे के बेटे के खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी होने के बावजूद सरकार उन्हें बचा रही है.

दूसरी ओर अश्विनी चौबे के बेटे अरिजित शाश्वत का कहना है कि वे सरेंडर नहीं करेंगे. पुलिस के पास गिरफ्तारी वॉरंट है तो उन्हें गिरफ्तार किया जाए.

Mein nyayalay ki sharan mein hun. Bhaagte woh hain, khojna unko padta hai jo kahin gayab ho gaye hon, mein samaaj ke beech mein hun: Arijit Shashwat, Union Minister Ashwini Choubey’s son on arrest warrant issued against him in Bhagalpur incident pic.twitter.com/iraCwlDiRj

Why should I surrender? The Court issues warrant but the court also gives shelter. Once you go to the court, you will do only what it decides for you: Arijit Shashwat, Union Minister Ashwini Choubey’s son on arrest warrant issued against him in Bhagalpur incident pic.twitter.com/1Hk0uGMZu0

View image on Twitter

मामला भागलपुर में एक सांप्रदायिक हिंसा का है जिसमें अरिजित शाश्वत पर एफआईआर दर्ज की गई है. शाश्वत ने कहा, मैं न्यायालय की शरण में हूं. भागते वो हैं, खोजना उन्हें पड़ता है जो कभी गायब हो गए हों. मैं समाज के बीच में हूं.

Nitish Kumar should answer how is he (Arijit Shashwat) roaming free if there is a warrant issued against him. He has lost the control of the govt. It’s is being run from Nagpur. This shows how weak he has become: Tejashwi Yadav on Arijit Shashwat

जबकि आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने बीजेपी और नीतीश सरकार पर एक साथ हमला बोला. तेजस्वी ने कहा, नीतीश कुमार को इसका जवाब देना चाहिए कि वे (अरिजित शाश्वत) अब तक क्यों नहीं पकड़े गए. जबकि उनके खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी हो चुका है. नीतीश कुमार का अपनी सरकार पर से नियंत्रण समाप्त हो चुका है. बिहार सरकार नागपुर से चल रही है. यह घटना बताती है कि नीतीश सरकार कितनी कमजोर हो चली है.

Loading...

इस मामले में बीजेपी नेता सुब्रह्मणियम स्वामी ने भी बयान दिया. उन्होंने कहा, नीतीश कुमार से पूछा जाना चाहिए कि यह घटना (सांप्रदायिक हिंसा) कैसे हुई. पुलिस क्या कर रही है? पुलिस के पास वॉरंट है तो उसे पकड़ना चाहिए.

Nitish (Kumar) should be asked why is this happening. What is the police doing? Police has the warrant, they should go ahead and catch him: Subramanian Swamy on Union Minister Ashwini Choubey’s son Arijit Shashwat

मामला काफी बढ़ने के बाद अरिजित शाश्वत के पिता और केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने कहा, एफआईआर और कुछ नहीं बल्कि कचरे का टुकड़ा है जिसे उस इलाके के भ्रष्ट अधिकारियों ने दर्ज की है. मेरे बेटे ने कोई गलती नहीं की है.

The FIR is nothing but a piece of garbage which was registered by corrupt officers of the area. My son made no mistake: Union Minister Ashwini Choubey on arrest warrant against Arijit Sashwat over Bhagalpur incident

भागलपुर की एक स्थानीय अदालत ने अरिजित शाश्वत और आठ अन्य के खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया है. अरिजित पर पिछले हफ्ते भागलपुर जिले में सांप्रदायिक हिंसा भड़काने का आरोप है. अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (एसीजेएम) अंजनी कुमार श्रीवास्तव ने नाथनगर पुलिस की ओर से दायर अर्जी पर रविवार को वॉरंट जारी किया. पुलिस ने इस सिलसिले में दर्ज दो मामलों में से एक में शामिल नौ लोगों की गिरफ्तारी की मांग की थी.

Loading...

You may also like

बॉम्बे मर्केंटाइल बैंक: ठगी करने वाला बैंक और बचाने वाले मंत्री…

प्रभात रंजन दीन उत्तर प्रदेश सरकार ने केंद्र