विजय माल्या से वसूली जाएगी 9000 करोड़ की पाई-पाई, आज से ED करेगा संपत्ति जब्त

नई दिल्ली। शादी की खबरों के बीच विजय माल्या की मुश्किलें अब बढ़ने वाली हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) आज से विजय माल्या की संपत्ति जब्त करेगा. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) बैंकों के 9000 करोड़ का लोन न चुकाने के मामले में आरोपी विजय माल्या की संपत्तियां जब्त करेगा. ईडी यह कार्रवाई क्रिमिनल प्रोसिजर कोड सेक्शन-83 के तहत होगी. आपको बता दें, इस कोड के जरिए ही देश छोड़कर भागे आरोपियों और भगोड़ा घोषित हो चुके अपराधियों की संपत्ति कुर्क की जाती हैं. गौरतलब है कि 2 मार्च 2016 को विजय माल्या देश छोड़कर लंदन भाग गए थे.

क्या है ईडी का आरोप
ईडी ने कोर्ट में माल्या के आरोप पत्र में कहा था कि माल्या ने 1996, 1997 और 1998 में लंदन में हुई फार्मूला वन रेसिंग के दौरान एक ब्रिटिश फर्म को लगभग 1 करोड़ 29 लाख रुपए दिए थे. आरोप है कि माल्या ने यह पैसा अपनी कंपनी किंगफिशर के लोगो को यूरोप में दिखाने की एवज में दिए थे. आरोप है कि यह भुगतान आरबीआई से बैगर अनुमति लिए दिए गए थे. इसे फॉरेन एक्सचेंज रेग्युलेटरी अथॉरिटी (फेरा) का उल्लंघन माना गया. दिल्ली की एक कोर्ट ने इस मामले में विजय माल्या के खिलाफ समन जारी किया था. लेकिन, हाजिर न होने पर कोर्ट ने अपराधी घोषित कर दिया.

माल्या के खिलाफ लंदन में भी कार्रवाई
भारतीयों बैंकों से लोन लेकर भागे माल्या पर प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) से जुड़े मामलों में केस चल रहा है. मुंबई की स्पेशल कोर्ट ने माल्या को भगोड़ा घोषित कर रखा है. फरवरी 2017 में भारत ने यूके सरकार से माल्या के प्रत्यर्पण की मंजूरी मांगी थी. सरकार ने भी ब्रिटिश पीएम से माल्या को भारत लाने में मदद करने की रिक्वेस्ट की थी. इस पर ब्रिटिश सरकार ने कोर्ट में माल्या का केस भेजा था. माल्या को लंदन में गिरफ्तार भी किया गया था. हालांकि, बाद में जमानत पर वह रिहा हो गए थे.

लंदन में सुनवाई जारी
विजय माल्या प्रत्यर्पण के मामले में फिलहाल जमानत पर चल रहे हैं. उनके खिलाफ कोर्ट में सुनवाई जारी है. हालांकि, उम्मीद है कि अगले दो महीने में इस पर फैसला आ जाए. सीबीआई को उम्मीद है कि वह विजय माल्या को भारत लाने में सफल साबित होगी.

Loading...

विजय माल्या पर कितना कर्ज?
विजय माल्या के स्वामित्व वाली किंगफिशर एयरलाइन्स पर 17 बैंकों का 6963 करोड़ रुपए का कर्ज है. हालांकि, ब्याज मिलाकर यह कर्ज कुल 9400 करोड़ रुपए से ज्यादा है. आरोप है कि विजय माल्या की किंगफिशर एयरलाइन्स ने IDBI से मिले 900 करोड़ रुपए के लोन में से 254 करोड़ रुपए का निजी इस्‍तेमाल किया. आपको बता दें, किंगफिशर एयरलाइन्स को 2012 में बंद कर दिया गया था और 2014 में फ्लाइंग परमिट भी रद्द किया गया था.

किस बैंक का कितना बकाया?

भारतीय स्‍टेट बैंक: भारतीय स्‍टेट बैंक एसबीआई ने विजय माल्‍या एयरलाइंस किंगफिशर को 1600 करोड़ रुपए का लोन दिया था. माल्‍या को सबसे अधिक कर्ज एसबीआई ने ही दिया था.
पंजाब नेशनल बैंक: पंजाब नेशनल बैंक ने विजय माल्‍या की एयरलाइंस किंगफिशर को 800 करोड़ रुपए का लोन दिया था.
आईडीबीआई बैंक: आईडीबीआई बैंक ने भी विजय माल्‍या की एयरलाइंस किंगफिशर को 800 करोड़ रुपए का लोन दिया था.
बैंक ऑफ इंडिया: बैंक ऑफ इंडिया ने भी विजय माल्‍या की एयरलाइंस किंगफिशर को 650 करोड़ रुपए का लोन दिया था.
बैंक ऑफ बड़ौदा: बैंक ऑफ बड़ौदा ने भी किंगफिशर एयरलाइंस को 550 करोड़ रुपए का लोन दिया था.
यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया: यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया ने भी किंगफिशर एयरलाइंस को 450 करोड़ रुपए का लोन दिया था.

Loading...

You may also like

बॉम्बे मर्केंटाइल बैंक: ठगी करने वाला बैंक और बचाने वाले मंत्री…

प्रभात रंजन दीन उत्तर प्रदेश सरकार ने केंद्र