Thursday , October 18 2018

‘लालू लीला’ किताब लॉन्च करेंगे सुशील मोदी, कहा- संपत्ति बटोरने की हवस का नाम है लालू

पटना। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर लिखी किताब ‘लालू लीला’ का लोकार्पण 11 अक्टूबर को करने का फैसला किया है. 11 अक्टूबर को लोकनायक जयप्रकाश नारायण का जन्मदिन है और इसी दिन उनके शागिर्द आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के ऊपर लिखी गई किताब का लोकार्पण हो रहा है. इस किताब को लालू प्रसाद यादव के धुर विरोधी सुशील कुमार मोदी ने लिखी है.

‘लालू लीला’ में लालू प्रसाद यादव के भ्रष्टाचार की कहानी लिखी गई है. जयप्रकाश नारायण ने कांग्रेस के भ्रष्टाचार के खिलाफ संपूर्ण क्रांति का बिगुल फूंका था, लेकिन उनके अनुयायी लालू प्रसाद यादव के भ्रष्टाचार की पोल खोलने के लिए सुशील मोदी ने यह दिन चुना है. सुशील मोदी ने अपनी किताब में लिखा कि लालू प्रसाद यादव ने विधायक, पार्षद, सांसद और मंत्री बनाने के एवज में रघुनाथ झा और कांति सिंह जैसे नेताओं से जमीन व मकान दान में लिखवा लिया.

इतना ही नहीं, लालू यादव ने भ्रष्टाचार से कमाए काले धन को सफेद करने के लिए बीपीएल श्रेणी के ललन चौधरी, रेलवे खलासी हदयानंद चौधरी और भूमिहीन प्रभुनाथ यादव, चंद्रकांता देवी और सुभाष चौधरी का सहारा लिया. लालू ने इनको लाभ पहुंचाने के एवज में कीमती जमीन और मकान दान के जरिए हासिल किया. मोदी ने अपनी किताब में लिखा कि लालू परिवार ने अपने रिश्तेदारों को भी बेनामी सम्पत्ति हासिल करने का जरिया बनाया. भाई के समधियाने, अपनी ससुराल, बेटी के ससुराल के रिश्तेदारों के नाम से अपने कालेधन से जमीन व मकान खरीदे और बाद में पत्नी बेटों व बेटियों के नाम गिफ्ट करवा लिए.

सुशील मोदी ने कहा कि ऐसे करीब एक दर्जन मामले उजागर हुए हैं, जिनमें लालू परिवार ने करोड़ों की सम्पति कौड़ियों के दाम पर राजनेताओं, अपने रिश्तेदारों से दान करवा ली. इसके अलावा लालू प्रसाद ने सम्पति हथियाने में आधा दर्जन से ज्यादा मुखौटा कम्पनियों का इस्तेमाल करने में रॉबर्ट वाड्रा को भी मात दे दी. मोदी ने लिखा कि पत्नी, बेटों और बेटियों के लिए ही नहीं, बल्कि आगामी तीन पीढ़ियों के लिए सम्पति बटोरने की हवस का नाम ही लालू प्रसाद यादव है.

Loading...

लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के बेनामी सम्पति के बारे में सुशील कुमार मोदी ने अप्रैल 2017 से मुहिम शुरू की थी, जिसके तहत IRCTC स्कैम से लेकर जमीन और मकान के बदले मंत्री पद या टिकट देने के मामले उठाए.

इसके बाद इन मामलों में सीबीआई, ईडी और इनकम टैक्स जांच शुरू की. मोदी ने लालू परिवार पर भ्रष्टाचार के इतने आरोप लगाए कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को गठबंधन तोड़ना पडा और इसके बाद वो बीजेपी के साथ आकर बिहार में एनडीए की सरकार चलाने लगे. हालांकि सुशील कुमार मोदी के तमाम आरोपों का लालू परिवार खंडन करता रहा है.

रेलवे के होटल की नीलामी के मामले में जांच चल रही है और मामला अदालत में है. इस मामले में तेजस्वी यादव व राबडी देवी आरोपी हैं और जमानत पर बाहर चल रहे हैं. लालू पर लिखी गई इस किताब के विमोचन के अवसर पर दो केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और राधामोहन सिंह के साथ-साथ बिहार बीजेपी के कई दिग्गज नेता उपस्थित रहेंगे.

Loading...

About I watch

Check Also

बाबर ने ना हिंदू को बख्‍शा, ना मुस्लिम को बख्‍शा: RSS प्रमुख मोहन भागवत

नागपुर। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने विजयदशमी समारोह में कहा कि हमारा समाज भारत की ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *