Thursday , October 18 2018

राहुल गांधी बोले- राफेल डील भ्रष्टाचार का मामला, PM मोदी इस्तीफा दें

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राफेल डील में अनियमितता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इस्तीफा मांगा. उन्होंने कहा है कि पीएम मोदी भ्रष्ट हैं. उन्हें इस मामले में अपना नाम आने पर इस्तीफा देना चाहिए.

राहुल ने कहा कि इस डील के जरिए पीएम मोदी ने अनिल अंबानी की जेब में 30 हजार करोड़ रुपये डाले हैं. राहुल ने यह भी सवाल किया कि विदेश मंत्री निर्मला सीतारमण इस समय फ्रांस क्यों गई हैं. इस समय फ्रांस में ऐसा क्या पक रहा है कि उन्हें वहां जाना पड़ा.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पीएम मोदी भ्रष्टाचार के मामले को लेकर सत्ता में आए थे और वही अब इन आरोपों से जूझ रहे हैं. उन पर आरोप लगा है, उन्हें इस मामले पर बोलना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर पीएम इस मामले पर बोल नहीं पा रहे हैं तो वह इस्तीफा दे दें.

उन्होंने कहा कि राफेल डील साफतौर पर रक्षा क्षेत्र में भ्रष्टाचार का मामला है. इस भ्रष्टाचार को समझने के लिए सारी चीजें सामने हैं. धीरे-धीरे इस सौदे की गड़बड़ियां सामने आ रही हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि इस मामले में कांग्रेस ने जेपीसी बनाकर जांच की मांग की थी. लेकिन बीजेपी इससे पीछे हट गई. उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी ने देश के किसानों, युवाओं और गरीबों के साथ विश्वासघात किया है.

राहुल का कहना है कि इस मामले में पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा था कि भारत के प्रधानमंत्री ने कहा था कि अनिल अंबानी जी को राफेल का ठेका मिलना चाहिए. अब दसॉ कंपनी के सीनियर एग्जीक्यूटिव ने कहा है कि इस सौदे में अनिल अंबानी की कंपनी को साझेदार बनाने की शर्त थी.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील के मामले पर गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला. राहुल गांधी ने कहा कि अनिल अंबानी की कंपनी को लड़ाकू विमान बनाने का कोई अनुभव नहीं था फिर भी उन्हें मोदी जी ने पार्टनर बनवाया.

राहुल गांधी का कहना है कि ये सीधे तौर पर अंबानीजी को 30 हजार करोड़ का मुआवजा देने का मामला है. प्रधानमंत्री इसके लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं. राहुल गांधी ने कई सवाल खड़े किए .

1. फ्रांस में दस्तावेजों से खुलासा हुआ है कि राफेल डील में अंबानी जी को पार्टनर भारत सरकार ने बनवाया.

Loading...

2. राफेल पर पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने खुलासा किया था. अब राफेल के सीनियर एग्जीक्यूटिव ने खुलासा किया है. दोनों के खुलासे से साफ है कि पीएम मोदी ने अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट दिलाया.

3. भ्रष्टाचार का इससे साफ मामला हो ही नहीं सकता.

4. प्रधानमंत्री मोदी जी अगर इस मामले पर जवाब नहीं दे रहे हैं तो इस्तीफा दें.

5. प्रधानमंत्री ने अनिल अंबानी को अनुभव न रहते हुए भी राफेल का ठेका दिलवाया. अनिल अंबानी जी 43 हजार करोड़  के कर्जे में हैं. ये सीधे तौर पर अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ का मुआवजा देने का मामला है.

6. मैंने संसद में प्रधानमंत्रीजी से राफेल पर सवाल पूछे तो उन्होंने आंख तक नहीं मिलाई. इस मामले की जेपीसी जांच क्यों नहीं कराते?

7. रक्षा मंत्री को फ्रांस में Dassault कंपनी जाना है इसलिए वे वहां के दौरे पर हैं.

8. पीएम अंबानी के पीएम हैं, देश के नहीं. उन्होंने अंबानीजी के चौकीदार की भूमिका निभाई है.

Loading...

About I watch

Check Also

वेस्टइंडीज को वनडे सीरीज से पहले झटका, इविन लुईस टीम से हटे, पॉवेल और पूरन को मिला मौका

किंग्सटन। क्रिस गेल और आंद्रे रसेल जैसे स्टार खिलाड़ियों के बिना भारत के खिलाफ वनडे और टी20 ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *