Sunday , July 21 2024

सुर्खियों में है नवजोत सिंह सिद्धू की पगड़ी पर चांद सितारे वाली ये तस्वीर

चंडीगढ़। पंजाब की कांग्रेस सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू एक बाद फिर सुर्खियों में हैं. इस बार वो अपने बयान को लेकर नहीं, बल्कि एक फोटो को लेकर चर्चा में हैं. दरअसल, पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महासचिव गोपाल सिंह चावला ने सोशल मीडिया पर नवजोत सिंह सिद्धू की एक तस्वीर साझा की है. फोटो में कांग्रेस नेता पाकिस्तान के झंडे वाली पगड़ी के साथ दिख रहे हैं. हालांकि सावधानी से जांच करने पर पता चलता है कि ये फोटोशॉप्ड फोटो है, क्योंकि सिख समुदाय के लोग सादी पगड़ी पहनते हैं.

गोपाल सिंह चावला ने तस्वीर साझा करते हुए लोगों से भी इसे साझा करने के लिए कहा. हालांकि उसने ऐसा क्यों किया ये साफ नहीं हो पाया, लेकिन ऐसा लगता है वह ऐसा करके खबरों में बने रहना चाहता है. गोपाल सिंह चावला को

कुछ सिखों ने सोशल मीडिया पर ट्रोल भी कर दिया. एक यूजर ने कहा ये पूरी तरह से अस्वीकार्य है.

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के शपथग्रहण समारोह के दौरान पाक सेना प्रमुख जनरल बाजवा को गले लगाने और गोपाल सिंह चावला के साथ फोटो खिंचवाने के बाद सिद्धू की जमकर अलोचना हुई थी. गोपाल सिंह चावला के साथ फोटो खिंचवाने का मामला जब तूल पकड़ा था तो सिद्धू ने कहा था वह उनको नहीं जानते थे और पाकिस्तान में हजारों लोगों ने उनकी तस्वीर खींची थी.

नवजोत सिंह सिद्धू ऐसे समय पाकिस्तान गए थे जब भारत के कई जवान सीमा पर पाक गोलीबारी में शहीद हुए थे. दोनों देश के बीच तनाव अपने चरम पर था.

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शपथग्रहण में शामिल होने से इनकार कर दिया था और नवजोत सिंह सिद्धू को भी यात्रा रद्द करने की सलाह दी थी.

कौन है गोपाल सिंह चावला

गोपाल सिंह चावला पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक केमेटी का महासचिव है और उसे 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का करीबी माना जाता है. गोपाल सिंह चावला पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और लश्कर-ए-तैयबा चीफ हाफिज सईद के साथ मिलकर पंजाब में आतंक फैलाने की साजिश रचता है. कुछ महीनों पहले पाकिस्तान में हाफिज सईद से चावला की मुलाकात की फोटो भी जांच एजेंसियों के हाथ लगी थी.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch