Tuesday , November 12 2019

किसने कराई थी प्रणब, वीके सिंह जासूसी: भाजपा अध्यक्ष ने WhatsApp मुद्दे पर सोनिया से पूछा

नई दिल्ली। सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा सोनिया गाँधी के वॉट्सऐप जासूसी कांड से जुड़े आरोपों पर पलटवार किया है। भाजपा ने कहा है कि सरकार की ओर से जवाब देते हुए कानून और संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पहले ही सरकार की स्थिति साफ़ कर दी थी। पार्टी ने सोनिया गाँधी से पूछा है कि उनके सत्ता काल में तत्कालीन केंद्रीय मंत्री (और बाद में राष्ट्रपति बने) प्रणब मुखर्जी और तत्कालीन सेना प्रमुख (और बाद में भाजपा में शामिल हो जाने वाले) वी के सिंह की जासूसी करने के लिए दस जनपथ से आदेश किसने जारी किए थे

Financial Express

@FinancialXpress

In a tweet, Nadda said the government has already clarified its stand on this issue, and asked the Congress president to clarify who ordered snooping during the Congress-led UPA regime.https://www.financialexpress.com/india-news/who-ordered-snooping-on-pranab-mukherjee-during-upa-govt-nadda-hits-back-at-sonia-gandhi/1752812/ 

Who ordered snooping on Pranab Mukherjee during UPA govt? Nadda hits back at Sonia Gandhi

In a tweet, Nadda said the government has already clarified its stand on this issue, and asked the Congress president to clarify who ordered snooping during the Congress-led UPA regime.

financialexpress.com

See Financial Express’s other Tweets

ANI

@ANI

BJP Working President JP Nadda: While Govt has already clarified its stand on this issue, perhaps Mrs. Gandhi could enlighten nation about who at 10 Janpath authorised snooping on Pranab Mukherjee when he was minister in UPA&Gen VK Singh when he was the Army Chief. (File pic) https://twitter.com/ANI/status/1190613201076940800 

View image on Twitter
ANI

@ANI

Congress Interim President Sonia Gandhi:Latest shocking revelation that through Israeli Pegasus software acquired by Modi govt snooping&spying activities on activists,journalists&politicians have taken place.These activities are not only illegal&unconstitutional, they’re shameful

View image on Twitter
97 people are talking about this

गौरतलब है कि कॉन्ग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा सोनिया के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने कहा था कि मोदी सरकार ने नेताओं और पत्रकारों की जासूसी की थी। उन्होंने सरकार पर इसके लिए इजराइल से पेगासस सॉफ्टवेयर खरीदने का आरोप लगाया और यह भी कहा कि ये गतिविधि केवल अवैध और असंवैधानिक ही नहीं, शर्मनाक भी है। सोनिया गाँधी ने यह बयान कथित तौर पर पार्टी के महासचिवों, राज्य प्रमुखों और अन्य अनुषांगिक संगठनों के प्रमुखों को सम्बोधित करते हुए दिया था।

इसी समय उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मोदी सरकार की गलत आर्थिक नीतियों की वजह से पिछले 6 सालों में कथित तौर पर 90 लाख नौकरियों का नुकसान हुआ है, हालाँकि उन्होंने इस आँकड़े का कोई स्रोत नहीं बताया। इसके अलावा उन्होंने कहा कि वित्तीय साल की पहली तिमाही में जीडीपी ग्रोथ दर केवल 5% रही और बेरोजगारी दर चिंताजनक रूप से 8.5% रही

ANI

@ANI

Congress Interim President Sonia Gandhi: GDP growth is at only 5% in 1st quarter. Unemployment levels at 8.5% is disturbing. Recent studies now suggest demonetization,GST&subsequent economic decisions of Modi govt resulted in unprecedented loss of 9 million jobs during last 6 yrs

View image on Twitter
57 people are talking about this

इसके जवाब में एएनआई के ही ट्वीट को रीट्वीट करते हुए नड्डा ने सोनिया गाँधी के यूपीए काल में उठे जासूसी के आरोपों की याद दिलाई और कहा कि सरकार ने इस मुद्दे पर अपनी सफाई पहले ही पेश कर दी है।

Jagat Prakash Nadda

@JPNadda

While the Govt has already clarified its stand on this issue, perhaps Mrs Gandhi could enlighten the nation about who at 10 Janpath authorised snooping on Shri Pranab Mukherjee when he was a minister in UPA & Gen VK Singh when he was the Army Chief!https://twitter.com/ani/status/1190613201076940800?s=21 

ANI

@ANI

Congress Interim President Sonia Gandhi:Latest shocking revelation that through Israeli Pegasus software acquired by Modi govt snooping&spying activities on activists,journalists&politicians have taken place.These activities are not only illegal&unconstitutional, they’re shameful

View image on Twitter
1,702 people are talking about this

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *