Friday , February 28 2020

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा हमले की साजिश रचने वाले जैश कमांडर कारी यासिर को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

श्रीनगर। दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में सुरक्षबलों को बड़ी सफलता मिली है. मुठभेड़ में जैश के कश्मीर चीफ कारी यासिर सहित तीन आतंकियों को मार गिराया गया है. मुठभेड़ स्थल पर तलाशी अभियान जारी है. मुठभेड़ में सेना के तीन जवान घायल हुए हैं. पुलवामा हमले के निरीक्षक आतंकी कमांडर कारी यासिर इन आतंकियों के साथ गणतंत्र दिवस के मौके पर पुलवामा जैसा बड़ा हमला करने जा रहे थे.

सुरक्षा बलों के मुताबिक, करि यासिर पुलवामा हमले का निरीक्षक था और उसी के नेतृत्व में हमला को अंजाम दिया गया था. कासिर ने ही फिदायीन को भी तैयार किया था. अब वो एक और पाकिस्तानी मूल के आतंकी अबू मुस्सा, अबू ज़ुबैर को फिदायीन हमले के लिए तैयार कर रहा था. तीसरे आतंकी भूरहान शेख जो स्थानीय था, हमला अंजाम देने में मदद कर रहा था. श्रीनगर में जैश के पकडे गए आतंकियों ने इनके बारे में खुलासा किया था और फिर उसी लीड पर काम हुआ.

कश्मीर में रणनीतिक रूप से स्थित सेना की 15वीं कोर को प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन और आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा “कश्मीर घाटी में गणतंत्र दिवस से पूर्व आतंकियों के एक बड़े मंसूबे को विफल किया गया है. हम जैश के आतंकवादियों को मारने में भी कामयाब रहे हैं. आज सुबह हमें पुलवामा में जैश के आतंकवादियों के बारे में जानकारी मिली, जो 26 जनवरी को हमला करने वाले थे. ऑपरेशन अभी भी जारी है. तीन जवान घायल हुए हैं. एक बड़ा आतंकी हमला जो उनके द्वारा नियोजित किया गया था, विफल किया गया है.”

आईजीपी विजय कुमार ने कहा, “हमने बहुत सफल ऑपरेशन किया है. हम कई कमांडरों को मारने में कामयाब रहे हैं. सूचना थी कि यह आतंकी गणतंत्र दिवस के मोके पर किसी बड़े हमले को अंजाम देने के फिराक में हैं. यह श्रीनगर के आसपास पुलवामा जेस आईडी विस्फोट का मंसूबा रखते थे. हिज्बुल मुजाहिद्दीन का दक्षिण कश्मीर से लगभग सफाया कर दिया गया है. हमें इलाके में यासिर की मौजूदगी के बारे में जानकारी मिली. हमने इस क्षेत्र का घेराव किया और तीन आतंकवादियों को मरने में कामयाबी हासिल की. वह (करि यासिर) बहुत सक्रिय था और फिदायीन हमले को अंजाम देने के लिए आतंकवादियों को प्रशिक्षित कर रहा था. तीन शव बरामद कर लिए गए हैं लेकिन तलाशी अभियान अभी भी जारी है.”

सुरक्षा बलों के मुताबिक जैश फिर अपनी जड़ें मज़बूत करना चाहता है लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे. हमेशा इनकी गतविधियों पर कड़ी नज़र राखी जा रही है. कुछ ही दिन पहले खुफिया सूचना के आधार पर जैश के मॉड्यूल का भंडाफोड़ हुआ था. श्रीनगर से 5 आतंकी हथियार समेत गिरफ्तार किए गए थे लेकिन अब भी दक्षिण कश्मीर में लगभग 125 आतंकवादी सक्रिय हैं.

आज मुठभेड़ सुबह 8 बजे दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा ज़िले के त्राल के हरी-पारिगाम में तीन आतंकियों के छुपे होने की सूचना के आधार पर सेना की 3 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), 130 सीआरपीएफ़ और जम्मू कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) घेराबंदी की गई. इस दौरान बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया गया और घेरा सख्त होता देख इलाके में छुपे आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग की. भीषण मुठभेड़ शुरू हुई. इस दौरान मुठभेड़ में सेना की 3 आरआर के तीन जवान के घायल हुए हैं.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *