Friday , February 28 2020

दिल्ली: 30,000 हजार के लिए 5 मर्डर, 1 कत्ल की कीमत 6 हजार रुपये

दिल्ली। भजनपुरा में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या के मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार घर के मुखिया शम्भू के मामा प्रभु मिश्रा ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है. बताया जा रहा है कि पैसे के लेन-देन को लेकर परिवार में विवाद था. जिसके बाद इस घटना को अंजाम दिया गया. दिल्ली पूर्वी रेंज के जॉइंट सीपी आलोक कुमार ने मीडिया को बताया, ‘आरोपी 28 साल का है और उसे दिल्ली से अरेस्ट किया गया है.

उसने बताया कि उसकी परिवार की महिला सदस्य से पैसों को लेकर लड़ाई हुई थी.  इसके बाद उसने महिला व बच्चों की रॉड से मारकर हत्या कर दी. इसके बाद उसने महिला के पति को भी मार डाला. मामले की जांच जारी है.’

पुलिस ने बताया कि जांच में पता चला है कि कत्ल रिश्तेदार प्रभु ने किया था. 3 तारीख को प्रभु ने शम्भू को बताया कि लक्ष्मी नगर में पैसों को लेकर मुलाकात करनी है. जैसे ही शम्भू लक्ष्मी नगर के लिए निकला, इसी बीच प्रभु शम्भू के घर पहुंच जाता है.

वहां पत्नी सुनीता अकेले थी जिसके साथ इसका पैसों को लेकर झगड़ा हुआ था. शम्भू पहले गला दबाकर, लोहे की रॉड से सुनीता का कत्ल करता है. घर में पहुचंते ही बेटी कोमल की भी कमरे में बुलाकर हत्या कर देता है और इसके बाद दोनों बेटों की हत्या करता है.

घर से निकल कर प्रभु ने पड़ोस में एक जगह शम्भू के साथ बैठकर शराब पी. फिर रात साढ़े 11 बजे घर ले जाकर शम्भू को मारा. जिसके सीसीटीवी से क्लू मिले हैं. स्कूल से पता चला कि 3 तारीख से बच्चे स्कूल नही गए.

तभी पता चल गया था कि 3 तारीख को मारा होगा. प्रभु की लोकेशन भी 3 तारीख को भजनपुरा में मिली. बताया जा रहा है कि प्रमु एक इंस्टीट्यूट में नौकरी करता था और साथ मे कमेटी भी डलवाता था. परिवार के सभी लोगों की बंद कमरे में हत्या की है, इसीलिए किसी को शोर नही सुना.

आरोपी 28 साल का है और दूर के रिश्ते में मृतक शम्भू का मामा लगता था. जो बिहार के सुपौल का रहने वाला है.

भजनपुरा में बुधवार को एक घर से 5 शव मिलने से इलाके में सनसनी मच गई थी. मृतकों में पति, पत्नी और तीन बच्चे शामिल थे. पुलिस ने बताया था कि मकान का ताला बाहर से लगा हुआ था. मकान से बदबू आने पर पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ताला तोड़कर अंदर दाखिल हुई थी.

घर का मुखिया शंभू चौधरी
मृतकों में ई-रिक्शा चलाने वाला घर का मुखिया शंभू चौधरी, उसकी पत्नी सुनीता, बच्चे शिवम, सचिन और कोमल शामिल थे. शंभू बिहार के सुपौल जिले का रहने वाला था. बताया जा रहा है कि जिस घर में लाशें मिली, उसमें वे पांच-छह महीने से रह रहे थे.

पुलिस का दावा था कि इन सभी लोगों की हत्या की गई 
पुलिस का दावा था कि इन सभी लोगों की हत्या की गई है और हत्यारे ने किसी धारदार हथियार से इस वारदात को अंजाम दिया है. ऐसा बताया गया कि मतृकों के शरीर पर कई जगह पर धारदार हथियार से वार किए जाने के निशान पाए गए हैं.

पुलिस का कहना है कि गर्दन और शरीर के दूसरे हिस्सों में जख्म देखे गए. इनके अलावा घर में किसी भी तरह की लूटपाट के निशान नहीं मिले हैं. जिसके बाद पुलिस इस हत्याकांड के आरोपियों को पकड़ने में जुटी है.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *