Sunday , January 24 2021

‘हमारे बुद्धिजीवी सड़कों पर निकलते हैं देश जलाने के लिए, ये मानवता तभी फूटती है, जब कोई जिहादी एजेंडा हो’

कश्मीर में इस्लामिक आतंकियों द्वारा सरपंच अजय पंडिता की निर्मम हत्या पर आक्रोश व्यक्त करते हुए बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangna Ranaut) ने बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ और तथाकथित बुद्धिजीवियों को जमकर लताड़ लगाई है।

कंगना रनौत (Kangna Ranaut) ने एक वीडियो में कहा है कि तमाम मुद्दों पर बोलने वाले ऐसे मौक़ों पर चुप रह जाते हैं। साथ ही, उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से कश्मीरी पंडितों को दोबारा कश्मीर घाटी में भेजने की भी अपील की है।

ट्विटर पर ‘टीम कंगना’ ने एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें वो अजय पंडिता की हत्या पर अपना गुस्सा प्रकट करते हुए देखी जा सकतीं हैं। वीडियो की शुरुआत में कंगना अपने हाथों में एक प्लाकार्ड पकड़े हुए नज़र आती हैं, जिस पर लिखा है-

“I Am Hindustan. I Am Ashamed. #Justice For Ajay Pandit. Murdered In Anantnag Jammu And Kashmir.”

(हिंदी – मैं हिन्दुस्तान हूँ, मैं शर्मिन्दा हूँ। अजय पंडित के लिए न्याय। अनंतनाग, जम्मू-कश्मीर में हत्या।)

कंगना रानौत इस वीडियो में कहती हैं- “हम अक्सर देखते आए हैं, जो हमारी फ़िल्म इंडस्ट्री के होनहार कलाकार हैं या ख़ुद को बुद्धिजीवी कहते हैं, अक्सर इस तरह के कार्ड और हाथों में मोमबत्तियाँ ले कर प्रचार करते आए हैं। हाथों में पत्थर पेट्रोल बम लेकर सड़कों पर निकल जाते हैं देश को जलाने के लिए या किसी मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय बनाने के लिए। मगर उनकी यह मानवता तभी फूटती है, जब इसके पीछे कोई जिहादी एजेंडा हो। मगर किसी और को इंसाफ़ दिलाना हो तो इनके मुँह से चूँ तक नहीं होती। जिस तरह भेड़िया भेड़ की खाल में छिपा होता है, जिहादी एजेंडा वाले लोग, सेक्युलरिज़्म की खाल में छिपे रहते हैं।”

“…हिन्दुओं को ये लोग सेक्युलरिज्म सिखाते हैं। रोवर्स साइकोलोजी की भी हद होती है। जो धर्म ना कि सिर्फ मानव और हर धर्म से प्रेम करना सिखाता है, ग्रह, नक्षत्र, ब्रह्माण्ड की पूजा करना सिखाता है, उसे सेक्युलरिज्म सिखाते हैं। “

वीडियो में कंगना रानौत अजय पंडिता की हत्या का मुद्दा उठाते हुए कश्मीर में इस्लाम के इतिहास का भी ज़िक्र करती हैं। कंगना आगे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से गुज़ारिश करते हुए कहती हैं कि कश्मीरी पंडितों को कश्मीर वापस भेजा जाए। उन्हें उनकी ज़मीन वापस दी जाए और हिंदुइज़्म की फिर से स्थापना की जाए। अजय पंडिता जी का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए।

अजय पंडिता की हत्या

गौरतलब है कि कंगना अक्सर सामाजिक मुद्दों के प्रति मुखर रहती देखी जाती हैं और देश के स्वघोषित बुद्धिजीवी वर्ग के ‘सेलेक्टिव आउटरेज’ पर भी हमला कर उन्हें एक्सपोज करती नजर आती हैं।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में हथियारबंद आतंकियों ने दक्षिण कश्मीर के लार्कीपोरा के लुकभावन गाँव के सरपंच अजय पंडित की सोमवार (जून 08, 2020) की शाम 6 बजे गोली मार कर हत्या कर दी। सरपंच अजय पंडित की हत्या उनके घर के बिल्कुल पास की गई और उन्हें गोली मारकर आतंकी फरार हो गए। गोली लगने के बाद उन्हें घायल अवस्था में ही अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ उन्होंने दम तोड़ दिया।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति