Monday , July 6 2020

सुशांत पर लिखने से खुद को रोक नहीं सके ये IPS अधिकारी, क्या जल्दबाजी थी…

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड ने फिल्म इंडस्ट्री ही नहीं बल्कि आम और खास को भी झकझोर कर रख दिया है, बिहार के आईपीएस अधिकारी विकास वैभव ने सुशांत को लेकर एक भावुक पोस्ट लिखा है, जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, विकास वैभव ने लिखा है, क्या शीघ्रता थी सुशांत सिंह राजपूत, थोड़ धैर्य रखते, समाधान निश्चित था, परंतु क्या कहूं, बिहार की अद्भुत प्रतिभा के दुखद निधन पर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं, काश पहले कह पाता, जीवन रुपी यात्रा में उद्वेलित करने वाले पल निश्चित आते हैं, लेकिन वो क्षणिक होते हैं, धैर्य ही समाधान है।

युवाओं में लोकप्रिय हैं विकास वैभव
मालूम हो कि आईपीएस अधिकारी विकास वैभव का पर्यावरण और ऐतिहासिक धरोहरों से खास लगाव रहा है, उन्हें फोटोग्राफी का भी शौक है, पुलिस अधिकारियों से लेकर हर किसी के दिमाग में एक ही बात आती है, कि वो वर्दी पहन बदमाशों को पकड़ते हैं, बंदूक और लाठी को कानून-व्यवस्था को मेटेंन करते हैं, लेकिन पुलिस अधिकारियों को इंसान के तौर पर समझने वाले लोग ये शायद भूल जाते हैं, कि सिर्फ लाठी चलाने वाले अधिकारी ही नहीं हैं, बल्कि एक मेंटर, शिक्षक और दार्शनिक भी हो सकते हैं।

अपने आपको रोक नहीं सके
पुलिस अधिकारियों को लेकर बनी इसी सोच को एक आईपीएस अधिकारी ने बदल डाला है, शायद यही वजह है कि वो सोशल मीडिया पर खुद को सुशांत के बारे में लिखने से रोक नहीं सके। फिलहाल विकास वैभव एक पुलिस अधिकारी के साथ-साथ ब्लॉगर और मार्गदर्शक की भूमिका भी निभा रहे हैं, इस समय विकास बिहार पुलिस के डीआईजी के पद पर तैनात हैं, वो इंटरनेट के जरिये भी लोगों के बीच छाये रहते हैं।

सुशांत की मौत से लोग हैरान
आपको बता दें कि एक्टर सुशांत सिंह राजपूत भी मूल रुप से बिहार के रहने वाले थे और युवाओं में काफी लोकप्रिय थे, Sushant nepotismहमेशा हंसते मुस्कुराते रहने वाले सुशांत से जुड़ी इस खबर पर कोई भी यकीन नहीं कर पा रहा है, बिहार ही नहीं देश के कई हिस्सों में सुशांत की आत्महत्या पर लोग सवाल उठा रहे हैं, हालांकि मुंबई पुलिस की जांच में उनके करीबी दोस्तों ने बताया कि वो डिप्रेशन की समस्या से जूझ रहे थे।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति