Monday , July 6 2020

क्या है चीनी PLA के दक्षिणी शिनजियांग मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट का फॉर्मेशन? कौन हैं इसके कमांडर्स?

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा पर मौजूदा गतिरोध को दूर करने के लिए सैन्य स्तर की बातचीत के दौर जारी हैं. 15 जून की रात को गलवान नदी घाटी में टकराव के बाद से स्थिति और पेचीदा बनी हुई है.

चीन की ओर से इस इलाके में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के दक्षिणी शिनजियांग मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट (XJMD) के तहत सारा ऑपरेशन आता है. क्या है इस डिस्ट्रिक्ट के फॉर्मेशन्स, कौन हैं इसको लीड करने वाले कमांडर और क्या है उनका पिछला रिकॉर्ड?

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के वेस्टर्न कमांड थियेटर (WTC) को 31 दिसंबर 2015 को लानझोऊ मिलिट्री रीजन और चेंगदू मिलिट्री रीजन को मिलाकर पुनर्गठित किया गया. WTC जो PLAGF (पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ग्राउंड फोर्सेज) के पांच कमांड थिएटर्स में सबसे बड़ा है.

galwan-valley_062220052255.jpg

गलवान घाटी

इस वेस्टर्न कमांड थिएटर को लेफ्टिनेंट जनरल ही वीडॉन्ग के नेतृत्व में खड़ा किया गया था. अब इसकी कमान जू क्विलिंग के हाथों में है. क्विलिंग जुलाई 1962 में जन्मे अधिकारी हैं और उन्होंने अप्रैल 2020 में ही मौजूदा कार्यभार संभाला.

1950 में स्थापित किया गया XIMD

दक्षिणी शिनजियांग मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट (XJMD) को 1950 में स्थापित किया गया था. उसके बाद इसे कई बार पुनर्गठित किया गया, लेकिन समान क्षेत्र को ही इसके अंतर्गत रखा गया. अक्सू, काशगर, यारकंद और खोटान इलाके पारंपरिक तौर पर इस क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं.

जब चीन ने पचास और साठ के दशक में तिब्बत पर कब्जा किया तो लद्दाख के विपरीत दिशा में अक्साई चिन और पूर्वी लद्दाख समेत क्षेत्र दक्षिणी शिनजियांग मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट (XJMD) में आ गया.

1_062220052151.jpg

मेजर जनरल लिऊ लिन

दक्षिणी XJMD को वर्तमान में मेजर जनरल लिऊ लिन कमांड कर रहे हैं. उन्हें दिसंबर 2014 में रैंक पर पदोन्नत किया गया.

प्रमोशन से पहले लिऊ लिन शिनजियांग ने मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट के हिस्से के तौर पर 8वीं मोटराइज्ड इन्फैंट्री डिवीजन की कमान संभाली थी. दिसंबर 2014 में पदोन्नति के बाद, वह दक्षिणी XJMD के डिप्टी कमांडर और चीफ ऑफ स्टाफ बन गए.

उन्होंने 23 मार्च 2019 को दक्षिणी XJMD की कमान संभाली और फॉर्मेशन का नेतृत्व किया.

liu_062220061653.jpgXJMD के कमांडर लिऊ लिन

वो ड्रिल में अच्छे हैं और उन्होंने मेजर जनरल कमांडिंग के रूप में दो प्रमुख परेड में हिस्सा लिया है. सितंबर 2015 में जापान विरोधी युद्ध की 70वीं वर्षगांठ और जुलाई 2017 में PLA की स्थापना की 90वीं वर्षगांठ के दौरान ट्रैक किए गए स्व-चालित आर्टिलरी कॉलम की उन्होंने अगुवाई की.

यूनिट्स और फॉर्मेशन्स

दक्षिणी XJMD की कमांड में आने वाले फॉर्मेशन्स और यूनिट्स इस प्रकार हैं-

– सिक्स्थ हाइलैंड मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री डिवीजन

-फोर्थ हाईलैंड मोटराइज्ड इन्फैंट्री डिवीजन

-शिनजियांग स्पेशल ऑपरेशन ब्रिगेड

-काशगर इंजीनियर रेजिमेंट

-दक्षिण झिंजियांग कम्युनिकेशंस रेजिमेंट

-363 बॉर्डर रेजीमेंट

मेजर जनरल लिऊ लिन का रैंक स्टेट्स

मीडिया और अधिकतर नागरिक भारत और चीन के बीच मौजूदा गतिरोध को सुलझाने के लिए मेजर जनरल लिऊ लिन को भेजे जाने के बाद से चीन की ईमानदारी को लेकर अनिश्चित हैं. वहीं भारत ने कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह को भेजा.

मेजर जनरल लिऊ लिन के पास दक्षिणी XJMD फॉर्मेशन में एक लेफ्टिनेंट जनरल भी है. लेफ्टिनेंट जनरल मियाओ वेनजियांग, दक्षिणी XJMD के राजनीतिक कमिसार हैं.

लिऊ लिन चीनी पक्ष के लिए आज की वार्ता के दौरान उनका प्रतिनिधित्व करने के लिए एक बहुत स्पष्ट विकल्प थे. वह लंबे समय से इस क्षेत्र में सेना की कमान संभाल रहे हैं और इलाके और उसकी बारीकियों को अच्छी तरह समझते हैं.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति