Friday , January 22 2021

चीन और रूस के साथ विदेश मंत्री की बैठक आज, LAC विवाद के बाद पहली बार होगी चर्चा

नई दिल्ली। LAC पर खूनी संघर्ष के बाद भारत-चीन (China) पहली बार आमने-सामने होंगे. विदेश मंत्री एस जयशंकर की आज रूस और चीन के विदेश मंत्रियों के साथ बैठक होगी. RIC समूह की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से होगी.

वहीं भारत-चीन तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तीन दिन के रूस दौरे पर मॉस्को पहुंचे हैं, वह 75वीं विजय दिवस परेड में शामिल होंगे. इस दौरान भारत और रुस के बीच रणनीतिक साझेदारी पर चर्चा संभव है.

इस बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट करके ये भी कहा, ‘सऊदी के विदेश मंत्री फैजल बिन फरहान से बातचीत हुई.  कोरोना के दौरान भी हमारी आपूर्ति श्रंखला और ट्रेड कमिटमेंट को बनाए रखा गया है.’

बता दें कि इससे पहले भारत और चीनी सेना के बीच पिछले हफ्ते गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद तनाव कम करने के उद्देश्य से सोमवार को दोनों देशों की सेनाओं के बीच लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की दूसरे दौर की बातचीत हुई थी.

देश के शीर्ष सैन्य नेतृत्व ने पूर्वी लद्दाख में स्थिति की विस्तृत समीक्षा की थी. गलवान घाटी में पिछले हफ्ते हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैन्यकर्मी शहीद हो गए थे. पूर्वी लद्दाख में चुशूल सेक्टर के चीनी हिस्से में स्थित मोल्डो में सुबह करीब 11:30 बजे बैठक शुरू हुई थी और रात तक जारी रही.

कोर कमांडर की बैठक में भारत ने चीन को जमकर खरीखोटी सुनाई थी. गलवान में हमले को सुनियोजित साजिश और क्रूर हरकत बताया था. पैंगोंग झील पर यथास्थिति बरकरार रखने को कहा था.

इस घटनाक्रम से जुड़े लोगों ने बताया कि लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की दूसरे दौर की बातचीत में पूर्वी लद्दाख से सैनिकों के हटाने के लिए तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने पर ध्यान केंद्रित किया गया था.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति