Tuesday , May 28 2024

UP: शहीद इंस्पेक्टर के बेटे ने कहा- गुनहगारों की गिरफ्तारी नहीं एनकाउंटर हो

लखनऊ। यूपी के गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस पर जानलेवा हमला हुआ था जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. इनमें एक शहीद इंस्पेक्टर नेबूलाल भी थे जिनके बेटे अरविंद ने ‘आजतक’ से बात की. अरविंद ने कहा कि इसमें जो लोग भी शामिल हैं, चाहे पुलिस विभाग के लोग हों या विकास दुबे गैंग के, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए. अरविंद ने ऐसे लोगों के एनकाउंटर किए जाने की मांग उठाई.

अरविंद ने कहा कि उन्हें कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया था कि कोई भी अपराधी हो, उसे नहीं छोड़ा जाएगा. इसलिए उम्मीद है कि जो लोग भी इस घटना के जिम्मेदार हैं उनके खिलाफ जरूर कार्रवाई होगी. पार्टियों पर हमला बोलते हुए अरविंद ने कहा कि 2001 में ही विकास दुबे अपराध की दुनिया में उतर गया था. तब से प्रदेश में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और भारतीय जनता पार्टी की सरकार रही है. इसलिए ये पार्टियां एक दूसरे पर आरोप न लगाएं. यूपी पुलिस जो कार्रवाई कर रही है, उसे पूरी छूट दी जाए और उन पर कोई दबाव न बनाया जाए.

चौबेपुर थाने के पुलिसकर्मियों की विकास दुबे से मिलीभगत की जानकारी सामने आई है. यह भी कहा जा रहा है कि थाने से किसी ने विकास दुबे को मुठभेड़ की जानकारी दी थी. इस पर अरविंद ने कहा कि उनके पिताजी बताते थे कि जितने अपराधी हैं उन्हें बचाने के लिए पुलिस विभाग के लोग ही मदद करते हैं. अरविंद ने यूपी सरकार से मांग की कि इस कांड में जो भी अपराधी शामिल हैं, उन्हें सजा न मिले बल्कि उनका एनकाउंटर हो.

बता दें, आठ पुलिसकर्मियों की शहादत के बाद इस घटना के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश जारी है. वहीं, दूसरी तरफ कानपुर प्रशासन ने विकास दुबे के बिठुर स्थित आवास को गिरा दिया है. घर गिराने के लिए विकास दुबे की उसी जेसीबी का इस्तेमाल किया गया, जिसके जरिए पुलिस टीम को घेरा गया था. इसके अलावा प्रशासन, विकास दुबे की सारी प्रॉपर्टी अटैच करने की तैयारी कर रहा है. प्रशासन उसकी सभी संपत्तियों की जांच करेगा. साथ ही सभी बैंक अकाउंट्स भी सीज किए जाएंगे.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch