Tuesday , May 28 2024

फरीदाबाद से गिरफ्तार हुए विकास दुबे के तीन सहयोगियों में से एक कोरोना संक्रमित

लखनऊ। कानपुर एनकाउंटर कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे की तलाश के दौरान पुलिस रेड में फरीदाबाद से गिरफ्तार तीन में से एक शख्स कोरोना संक्रमित पाया गया है। पुलिस ने इस बात की जानकारी दी है। पांच लाख के इनामी बदमाश विकास दुबे के फरीदाबाद में छुपे होने की सूचना पर पुलिस ने बुधवार को यहां पर रेड मारी थी। विकास दुबे यहां से भागने में कामयाब हो गया लेकिन उसके तीन साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। फरीदाबाद पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए तीन में से एक शख्स में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है।

गिरफ्तार तीन में से एक को ट्रांजिट रिमांड और दो न्यायिक हिरासत में भेजा गया

हिस्ट्रीशीटर गैंगस्टर विकास दुबे के तीन साथियों को पुलिस ने फरीदाबाद जिला अदालत में पेश किया। कोर्ट ने गिरफ्तार किए गए तीन लोगों में से एक को ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया, जबकि अन्य दो को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। फरीदाबाद से गिरफ्तार किए गए बदमाशों की पहचान प्रभात, अंकुर और श्रवण के रूप में हुई है। इनमें से प्रभात बिकरू गांव का ही रहने वाला है। पुलिस ने इनके पास से कुल 4 पिस्टल और कारतूस बरामद किए हैं। इनमें से दो सरकारी पिस्टल हैं जो कानपुर कांड के दौरान पुलिस से लूटी गई थी।

विकास दुबे के फरीदाबाद में होने की मिली थी जानकारी

दरअसल, बुधवार सुबह विकास दुबे के फरीदाबाद में होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद से पुलिस उसकी तलाश में जुटी ही है। पुलिस उसकी तलाश में दिल्ली, यूपी, गुरुग्राम और फरीदाबाद और राजस्थान सहित तमाम जगहों पर छापेमारी कर रही है। विकास दुबे की सरगर्मी से तलाश कर रही पुलिस की 40 टीमें पुलिस टीम पर हमले के आरोपियों को एक-एक कर दबोचने में लगी हैं।

उत्तराखंड  पुलिस भी अलर्ट पर

जानकारी के अनुसार, विकास दुबे को हरियाणा में फरीदाबाद के सेक्टर 87 में दिखाई देने की सूचना पुलिस को मिली थी। सूत्रों का दावा है कि मंगलवार देर रात विकास एक होटल की सीसीटीवी फुटेज में देखा गया था, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले वह वहां से फरार हो गया। उसके उत्तराखंड की सीमा में दाखिल होने की संभावना के मद्देनजर वहां की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch