Tuesday , May 28 2024

स्पीकर के नोटिस के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचे सचिन पायलट, 3 बजे होगी सुनवाई

राजस्थान में जारी सियासी घमासान में लगातार नए अपडेट आ रहे हैं। बीते दिन जहां अशोक गहलोत ने सचिन पर पैसे लेने के आरोप लगा दिए। वहीं कम शब्दों में अपनी बात कहने वाले सचिन भी अब मुखर होकर गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इधर बीजेपी भी इस मामले में पूरी सक्रियता दिखा रही है। कांग्रेस की ओर से व्हिप जारी होने के बाद भी 19 विधायकों के ना आने पर स्पीकर की ओर से उन्हें भेजे गए नोटिस पर अब बीजेपी स्पीकर सी.पी. जोशी को घेर रही है। बीजेपी के आला नेता लगातार स्पीकर की ओर से भेजे गए नोटिस को अमान्य करार देकर उसने नोटिस का आधार पूछ रहे हैं।

अपडेट 1.36 पायलट खेमे ने नोटिस के खिलाफ डाली हाइकोर्ट में अर्जी
प्रदेश में चल रही सियासत के बीच बड़ी खबर सामने आई है। मिली जानकारी के अनुसार पायलट खेमे ने राजस्थान हाईकोर्ट का रुख किया है। बताया जा रहा है कि पायलट खेमे की इस याचिका की सुनवाई जस्टिस सतीशचंद्र शर्मा की बेंच गुरुवार को यानी आज ही तीन बजे इस मामले सुनवाई करेगी। आपको बता दें कि पायलट खेमे के विधायकों ने हाइकोर्ट में याचिका उन्हें स्पीकर की ओर से भेजे गए नोटिस के संबंध में लगाई है।

अपडेट 1.07 पायलट समर्थक विधायक नोटिस की जवाब देने के लिए विधि सलाहाकारों के संपर्क में
कांग्रेस की ओर से पायलट समर्थक 19 विधायकों को नोटिस देने के बाद अब लगातार यह बात सामने आ रही है कि सचिन पायलट और उनके साथी लगातार विधि सलाहाकारों के संपर्क में हैं। विधायक और पायलट यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि पार्टी की ओर से व्हिप और नोटिस जारी करना कानूनी रूप से कितना सही है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सचिन पायलट ने इस मामले में केस दायर करने के लिए कांग्रेस के सीनियर लीडर और जाने-माने वकील अभिषेक मनु सिंघवी से आग्रह किया था, लेकिन उनके इनकार करने के बाद पायलट नया रास्ता तलाश रहे हैं। हालांकि यह साफ नहीं हो पा रहा है कि पायलट खेमा अपनी याचिका सुप्रीम कोर्ट में लगाएगा या राजस्थान हाइकोर्ट में, लेकिन नोटिस के जवाब को लेकर कानूनी राय लेने की अटकले काफी तेज है।

अपडेट 1.00 बागी विधायक रामनिवास गावड़िया ने भी खोला सीएम के खिलाफ मोर्चो, किया ट्ववीट
सचिन समर्थक मंत्री और विधायकों को हटाए जाने के बाद उनके साथी विधायक और युवा नेता सीएम गहलोत के खुलकर सामने आ गए हैं। वो ट्वीट के जरिए जहां गहलोत की ओर से लगाए गए हॉर्स ट्रेडिंग के आरोपों को सिरे से नकार रहे हैं। वहीं उसके साथ ही सीएम गहलोत से आर-पार की लड़ाई की बात भी कर रहे हैं। ताजा ट्वीट परबतसर विधायक रामनिवास गावड़िया ने किया है, जो पहले छात्रसंघ नेता के तौर पर अपनी भूमिका रखते थे। हाल ही हुए विधानसभा चुनाव में उन्होंने पहली बार चुनाव जीता है।

अपडेट 12.34 कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने पूछा सवाल
राजस्थान कांग्रेस में चल रही भीतरी कलह को लेकर अभी भी जहां सचिन पायलट के दोबारा पार्टी में शामिल होने के लेकर संशय बना हुआ है। इसी बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की निगाह भी इसी बात पर टिकी है। आज सुबह गुरुवार को कपिल सिब्बल ने भी इस संबंध में सचिन पायलट की घर वापसी को लेकर उत्सुकता दिखाई है। उन्होंने सचिन के उस बयान को कोट किया है, जिसमें सचिन बीजेपी में जाने के सभी कयासों पर विराम लगा रहे हैं।

अपडेट 11.34 नोटिस की कानूनी वैधता को लेकर पायलट खेमा कर रहा है तैयारी
सचिन पायलट की ओर से बगावती तेवर के बाद विधायकों को दिए गए नोटिस के बाद अब उसका जवाब देने की तैयारी की जा रही है। विधानसभा स्पीकर की ओर से 19 विधायकों को नोटिस भेजने के बाद यह जानकारी सामने आ रही है कि सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायक नोटिस को लेकर विधि जानकारों से चर्चा की जा रही है। साथ ही इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में पायलट खेमा एक याचिका भी दायर कर सकता है।

अपडेट 10.45 सचिन पायलट लीगल जानकारों के संपर्क में
सचिन पायलट की ओर से बगावती तेवर दिखाने के बाद सभी समर्थक विधायकों को नोटिस को लेकर थमाए गए हैं। इसे लेकर जहां अब बीजेपी कांग्रेस को घेर रही है। वहीं सूत्रों की मानें, तो स्पीकर की ओर से भेजे गए नोटिस के कानूनी महत्व को जानने के लिए अब सचिन पायलट भी विधि से जुड़े जानकारों के संपर्क में हैं। साथ ही नोटिसों के जवाब देने की तैयारी भी सचिन पायलट समर्थक विधायकों की ओर से देने की तैयारी की जा रही है।

अपडेट 10.00 मंत्रिमंडल के विस्तार को फिलहाल टाला गया
राजस्थान में सियासी घमासान के बीच सचिन पायलट को लेकर जहां कांग्रेस में अभी भी संशय बना हुआ है। वहीं इसके साथ ही सूत्रों से यह जानकारी मिली है कि सीएम असोकल गहलोत ने मंत्रिमंडल को लेकर विस्तार की तैयारियों को फिलहाल के लिए टाला जा रहा है। यह कहा जा रहा है कि कांग्रेस अभी भी सचिन पायलट को कांग्रेस में शामिल करना चाहती है।

अपडेट 9.00 मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया ट्वीट
कांग्रेस में सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच बढ़ी तल्खियों के बीच सीएम गहलोत ने कई ट्वीट्स कर जरिए युवा कांग्रेस साथियों को मैसेज दिया है। इसमें उन्होंने युवा नेताओं से लेकर कहा है कि हम तो तीसरी बार मुख्यमंत्री बन गए, 40 साल से अधिक राजनीति करते हो गए, ये नई पीढ़ी जो आई है, हम उनको प्यार करते हैं, आने वाला कल उनका है। राजनीति के जानकारी इसे पायलट की वापसी के साथ भी जोड़कर देख रहे हैं।

 

अपडेट 8.50 बीना काक ने एक नज्म के जरिए की सीएम गहलोत की तारीफ , वायरल
राजस्थान की राजनैतिक उठापटक के बीच कांग्रेसी नेता बीना काक ने भी एक नज्म के जरिए सीएम अशोक गहलोत की तारीफ की है। इस नज्म में उन्होंने गहलोत को जादूगर बताया है। साथ ही विरोधियों पर भी हमला बोला है। नज्म सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

अपडेट @8.36 A.M.: राहुल चाहते हैं पायलट के लिए खुले रहें पार्टी के दरवाजे!
कांग्रेस से नाराज सचिन पायलट को लेकर बड़ा अपडेट सामने आ रहा। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, राहुल गांधी अभी भी सचिन पायलट के लिए कांग्रेस के दरवाजे खुले रखना चाहते हैं। हालांकि, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राहुल गांधी ने अभी तक सचिन पायलट से कोई बात नहीं की है। वहीं, प्रियंका गांधी से जरूर पायलट की फोन पर बातचीत हुई। पायलट पहले ही ये साफ कर चुके हैं कि वो बीजेपी में शामिल नहीं हो रहे और उनको लेकर ये अफवाह फैलाई जा रही है। खास तौर से गांधी परिवार के सामने उनकी छवि खराब करने की कोशिश की जा रही।

अपडेट @8.30 A.M.: राहुल ने कहा कि जिसे जाना है, जा सकता है

कांग्रेस अभी भी सचिन पायलट को दोबारा पार्टी में शामिल होने के लिए मान मनौव्वल कर रही है। वहीं राहुल गांधी ने एनएसयूआई की मीटिंग में सचिन का नाम लिए बिना उन पर हमला बोला। राहुल ने कहा कि जिसे जाना है जाएं, घबराने की जरूरत नहीं है, इससे आप जैसे नए युवा नेताओं के लिए दरवाजे खुलते हैं।

अपडेट @8.20 A.M.: मंत्रीमंडल के विस्तार को लेकर अशोक गहलोत की तैयारी
प्रदेश सरकार की ओर से जहां बाड़ाबंदी की चौथा दिन चल रहा है। वहीं सूत्रों के हवाले से यह खबर मिली है कि सीएम अशोक गहलोत अब मंत्रिमंडल के विस्तार की तैयारी कर रहे हैं। इसे लेकर होटल फेयरमॉन्ट में मंथन भी हुआ है।

अपडेट 8.10 मुकेश भाकर ने किया ट्वीट, विश्वेन्द्र सिंह ने किया समर्थन
राजस्थान की सियासी उठापटक में जहां सचिन पायलट की ओर से जहां अशोक गहलोत और उनके समर्थकों की ओर से षडयंत्र की बात की। वहीं अब लाडनूं विधायक मुकेश भाकर की ओर से किए गए ट्वीट को लेकर चर्चा है, जिसे विश्वेन्द्र सिंह भरतपुर का भी समर्थन मिला है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch