Sunday , May 26 2024

सोनभद्र के उभ्‍भा जाने के प्रयास में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू समेत 22 नामजद व 100 अज्ञात पर एफआइआर

भदोही। सोनभद्र के उभ्‍भा गांव जाने के प्रयास में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू, पूर्व सांसद डॉ. राजेश मिश्रा व पूर्व मंत्री अजय राय सहित 22 लोगों पर नामजद व 100 अज्ञात पर एफआइआर दर्ज किया गया है। इनके खिलाफ भीड़ जुटाने के आरोप में धारा 144 आपदा एक्ट के उल्लंघन पर कार्रवाई की गई है। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने व मास्क न लगाने का भी आरोप है। आरोप यह भी है कि प्रदेश अध्यक्ष बगैर अनुमति ही कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे थे। पुलिस की इस कार्रवाई से कांग्रेजन में आक्रोश व्याप्त है। उम्भा में जमीन विवाद में हुए नरसंहार में मृत आदिवासियों को श्रद्धांजलि देने के लिए सोनभद्र के उभ्‍भा गांव जा रहे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह “लल्लू’ को बीते गुरूवार को भदोही में गोपीगंज पुलिस ने रोक लिया था। उन्हें गोपीगंज गेस्ट हाउस में नजरबंद कर दिया गया था। वहीं दूसरी तरफ मीरजापुर में उभ्‍भा गांव के लिए निकले पूर्व मंत्री अजय राय को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया था।

बोले अजय लल्‍लू, कांग्रेसियों काे झूठे मुकदमे में फंसा रही सरकार

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि प्रदेश में जंगलराज है। कांग्रेसियों को प्रदेश सरकार झूठे मुकदमे में फंसा रही है। कहा कि जब पिछले वर्ष 17 जुलाई को उम्भा कांड हुआ था तो प्रदेश सरकार ने आदिवासियों के लिए बड़े दावे किए थे लेकिन एक वर्ष बीत जाने के बाद भी न तो आदिवासियों को जमीन दी गई और न ही आवास और अन्य सुविधाएं। प्रदेश सरकार दलित और आदिवासी विरोधी है।

अजय राय ने भाजपा पर साधा निशाना, बोले, अलोकतांत्रिक काम कर रही हैं सरकार

वरिष्ठ कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री अजय राय ने कहा कि भाजपा सरकार जहां विरोधी दल के नेताओं को पीडि़तों से मिलने व श्रद्धांजलि के फर्ज से भी कोरोना के नाम पर रोकने और गिरफ्तारियां करने का अलोकतांत्रिक काम कर रही हैं, वहीं बेलगाम बढ़ रहे कोरोना संक्रमण पर लगाम में नाकाम भाजपा पूरी तरह चुनावी मोड में लगातार वर्चुअल रैलियों का सिलसिला बेशर्मी के साथ चलाए जा रही है।

सत्ता पलट अभियान चलाने में भाजपा और केंद्र सरकार के मंत्री मशगूल

अजय राय ने एक वक्तव्य में कहा कि उक्त रैलियों के डिस्प्ले केंद्रों पर लोगों को जुटाने का काम बेरोक टोक जारी है। यही कारण है कि प्रबंधन की भीड़ के चलते पटना के भाजपा दफ्तर में 52 कोरोना पाॅजिटिव निकले। इसके अलावा इन राजनीतिक अभियानों पर बेहिसाब पैसा बहाया जा रहा है। इतना ही नहीं, जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है वह भाजपा के अलोकतांत्रिक सत्ता लूट अभियान से बचा हुआ है। उनमें भी हजारों करोड़ के प्रोजेक्ट के तहत हार्स ट्रेडिंग के द्वारा सत्ता पलट अभियान चलाने में भाजपा और केंद्र सरकार के मंत्री मशगूल हैं।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch