Sunday , May 26 2024

अंकिता लोखंडे ने देखी ‘दिल बेचारा’, आखिरी बार सुशांत के लिए लिखे वो तीन शब्‍द

अंकिता लोखंडे, सुशांत सिंह राजपूत के जाने के बाद से सदमे में हैं, हाल ही में वो जब अपने इंस्‍टाग्राम लाइव पर आईं थीं तो उनकी हालत फैंस से देखी नहीं जा रही थी । अंकिता मुसकुरा तो रहीं थीं, लेकिन उनका दर्द बयां हो रहा था । लाइव के दौरान कुछ को छोड़कर किसी ने उनसे सुशांत का जिक्र करने की भी हिम्‍मत नहीं की । अंकिता ने सुशांत के जाने के बाद से सोशल मीडिया पर कुछ भी पोस्‍ट नहीं किया । एक दिया और कैंडल के पोस्‍ट के सिवाय । अब उन्‍होने शुक्रवार को एक पोस्‍ट की, जिसमें उन्‍होने अपना दिल उड़ेलकर रख दिया ।

सुशांत की फिल्‍म दिल बेचारा रिलीज

शुक्रवार को ही सुशांत सिंह राजपूत कर फिल्‍म दिल बेचारा रिलीज हुई है । अंकिता ने इस फिल्‍म का एक मोशन पोस्‍टर अपने इंस्‍टाग्राम पर पोस्‍ट किया । अंकिता ने इस पोस्‍टर को जो कैप्‍शन दिया वो ये बता रहा है कि उनकी सुशांत से जुड़ी पुराने यादें एक बार फिर इस फिल्‍म के साथ ताजा हो गई होंगी । अंकिता ने सुशांत को आखिरी विदाई दी ।

अंकिता ने लिखे तीन शब्‍द

अंकिता लोखंडे ने सुशांत के लिए आखिरी बार तीन शब्‍द लिखे । उन्‍होने लिखा – वन लास्‍ट टाइम यानी एक आखिरी बार । इसके साथ ही अंकिता ने पवित्र रिश्‍ता और दिल बेचारा का हैशटैग भी दिया, लिखा From #pavitrarishta to #dilbechara । अंकिता की इस पोसट पर फैंस उमड़ पड़े हैं । कुछ ही घंटो में इस पोस्‍ट पर 17 लाख से ज्‍यादा व्‍यूज आ चुके हैं ।

अंकिता लोखंडे और सुशांत

अंकिता और सुशांत पिछले 4 सालों से एक दूसरे से अलग हो गए थे । साल 2016 में दोनों ने ऑफीशियली ब्रेक अप कर लिया था । दोनों की राहें अलग हो गईं थीं । अंकिता ने मई के आखिरी हफ्ते में ही अपने बिजनेसमैन ब्‍वॉयफ्रेंड से सगाई भी कर ली थी । लेकिन फिर अचानक सुशांत ने वो कदम उठा लिया, जिसके बारे में अंकिता ने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा । सुशांत के जाने के बाद अंकिता कई दिनों तक बेसुध रहीं थीं । उनके जानने वालों ने इस बात की तस्‍दीक की थी कि अंकिता का हाल बेहद बुरा हो गया है । बहरहाल, सुशांत को गए अब महीने भर से भी ज्‍यादा का समय हो गया है । अंकिता ने भी खुद को संभाल लिया है । फैंस भी उनकी आखिरी फिल्‍म दिल बेचारा को सेलिब्रेट कर उन्‍हें ट्रिब्‍यूट कर रहे हैं ।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch