Tuesday , May 28 2024

ISI एजेंटों के साथ दिखे कई बॉलीवुड कलाकार, भारतीय खुफिया एजेंसियों की चेतावनी के बाद भी हुई संदेहपूर्ण डीलें: रिपोर्ट्स

बॉलीवुड के कई कलाकारों के बारे में पिछले दिनों खुलासा हुआ था कि उनके संबंध ISI समर्थित पाकिस्तानी एजेंटों से हैं। अब टाइम्स नाऊ की खबर है कि कई बेनाम सितारों ने भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसियों के चेताने के बाद भी ऐसे एजेंटों के साथ कई गुप्त डीलें की जो कथिततौर पर ‘संदेहपूर्ण और अस्पष्ट’ (shady and unclean) है।

रिपोर्ट बताती है कि कई बॉलीवुड एक्टर्स ऐसे हैं जो पाकिस्तानी कलाकरों समेत ISI समर्थित एजेंटों के साथ जुड़े हुए हैं और जिन्होंने उनके साथ मिलकर कनाडा व अमेरिका जैसे देशों में प्रदर्शन भी किया। इसलिए, इन्ही चीजों को देखते हुए अब कनाडा और यूएस के अधिकारी ऐसे एजेंटों की सूची को एकत्रित कर रहे हैं जिनके संबंध ISI से हैं और वह दोनों देशों में एक्टिव भी हैं।

इस मामले में जाँच के बाद पूरी सूची प्रवासी नेताओं को सौंपी जाने की बात कही जा रही है। साथ ही ये भी बताया जा रहा है कि इन्हें ये जिम्मेदारी दी जाएगी कि वे इन एजेंटों के बारे में उनके बॉलीवुड कलाकारों व आमजनता को जागरूक करें।

गौरतलब है कि अभी कुछ दिन पहले ही इस मामले ने तूल पकड़ा था जब पाकिस्तान मूल के अमेरिका निवासी रेहान सिद्दकी को भारत ने ब्लैकलिस्ट किया और बॉलीवुड व ISI के नेक्सस का खुलासा हुआ।

रेहान पर आरोप लगा था कि वह बॉलीवुड से जुड़े इवेंट के आयोजन की आड़ में भारत विरोधी और खासकर कश्मीर प्रोपेगेंडा को फंडिंग करता था। उसकी संदिग्ध गतिविधियों पर प्रवासी भारतीयों की नजर इस साल की शुरुआत में पड़ी थी।

यहाँ बता दें कि पिछले बुधवार को कई बड़े कलाकारों की पाकिस्तानियों के साथ तस्वीरें इंटरनेट पर वायरल हुई थी। इसके बाद से इन कलाकारों की भूमिका और नज़रिए पर सवाल उठने लगे कि आखिर बॉलीवुड के लोगों का ऐसे “भारत विरोधी” लोगों से इतना सीधा संपर्क कैसे है?

एक तस्वीर में शाहरुख खान और उनकी पत्नी एक अलगाववादी नेता के साथ नज़र आ रहे थे। कैलिफोर्निया के रहने वाले अलगाववादी नेता टोनी अशाई पर कश्मीर के युवकों को भारत के विरुद्ध भड़काने का आरोप है। शाहरुख के टोनी के साथ बहुत अच्छे संबंध बताए जाते हैं।

यह भी बताया जा रहा है कि टोनी की दुबई, अबू धाबी और लॉस एंजिलिस में अच्छी-खासी सम्पत्ति है। उसके बेटे बिलाल अशाई ने कश्मीर के युवकों से हथियार उठाने की अपील की थी।

इसके अलावा श्रीनगर के सामाजिक कार्यकर्ता अल सिकंदर ने अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट से सिलसिलेवार ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने टोनी/अज़ीज़ पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। ट्वीट में उन्होंने लिखा कि टोनी आईएसआई द्वारा प्रायोजित आतंकवादी संगठन जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट का सदस्य रह चुका है। वहीं शाहरुख खान का कहना है कि उन्होंने टोनी से बतौर आर्किटेक्ट मदद ली थी।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch