Tuesday , May 21 2024

रिया ने दी थी सुशांत को धमकी, तुम्हारी मेडिकल रिपोर्ट कर दूंगी लीक, परिवार का आरोप

सुशांत सिंह राजपूत के पिता के के सिंह ने रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है और कई गंभीर आरोप लगाए हैं. सुशांत के पिता ने अपने स्टेटमेंट में कहा, मेरा बेटा सुशांत फिल्म लाइन छोड़ कर केरल में ऑर्गेनिक खेती करना चाहता था, उसका दोस्त महेश उसके साथ कुर्ग जाने के लिए तैयार था तब रिया ने इस बात का विरोध किया था कि तुम कही पर नहीं जाओगे और अगर मेरी बातें नहीं मानोगे तो मैं मीडिया में तुम्हारी मेडिकल रिपोर्ट दे दूंगी और सबको बता दूंगी कि तुम पागल हो.

उन्होंने आगे लिखा कि जब रिया ने देखा कि सुशांत उसकी बात नहीं मान रहा है और उसका बैंक बैलेंस भी बहुत कम रह गया है तो रिया को लगा कि अब सुशांत उसके किसी काम का नहीं है. रिया जोकि सुशांत के साथ रह ही थी, वो 8 जून को सुशांत के घर से काफी सारा सामान मसलन कैश, जेवरात, लैपटॉप, पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड और उनके पिन नम्बर, सुशांत के अहम दस्तावेज और इलाज के सारे कागज लेकर चली गई थी.

केके सिंह के बयान में आगे लिखा था कि उसने मेरे बेटे सुशांत का फोन नम्बर अपने फोन में ब्लॉक कर दिया था. इसके बाद सुशांत ने मेरी बेटी को फोन किया था और उसने कहा था कि रिया मुझे कहीं फंसा देगी, वो यहां से काफी सामान लेकर चली गई है और मुझे धमकी देकर गई है कि अगर तुमने मेरी बात नहीं मानीं तो तुम्हारे इलाजे के सारे कागज मीडिया को दे दूंगी और कह दूंगी कि तुम पागल हो, तुम्हे कोई काम नहीं देगा और तुम बर्बाद हो जाओगे.

सुशांत के पिता बोले, रिया के चलते काफी घबराया हुआ था सुशांत

इस स्टेटमेंट में आगे लिखा था कि इसके बाद 8 जून को को दिशा जिसे रिया ने ही सुशांत के पास अस्थाई तौर पर सेकेट्री नियुक्त किया था, उसने आत्महत्या कर ली थी जिसके कारण मीडिया में काफी खबरें चलने लगीं और मेरे बेटे को काफी घबराहट होने लगी. मेरे बेटे ने रिया से संपर्क करने की बहुत कोशिश की लेकिन रिया ने मेरे बेटे का नम्बर ब्लॉक कर दिया था. मेरे बेटे को अंदर ही अंदर बहुत डर था कि कहीं रिया दिशा की आत्महत्या के लिए उसे जिम्मेदार न बता दे.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch