Sunday , May 26 2024

Sushant के पिता ने कहा- बेटे को था जान का खतरा, फरवरी में ही मुंबई पुलिस को दी थी खबर

नई दिल्ली। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) सुसाइड केस में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं. अब सुशांत के पिता के के सिंह (K.K Singh) ने खुद एक वीडियो जारी कर मुंबई पुलिस (Mumbai Police) पर बड़ा आरोप लगाया है.

के के सिंह ने वीडियो जारी कर कहा, ’25 फरवरी को मैंने बांद्रा पुलिस को आगाह किया था कि मेरे बेटे की जान को खतरा है, 14 जून को जब मेरे बेटे की जान चली गई तो हमने 25 फरवरी में नामित लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा. लेकिन 40 दिन बीत जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई.’

उधर, मामले की जांच को लेकर बिहार और महाराष्ट्र सरकार में खींचतान जारी है. मामले की जांच के लिए बिहार से मुंबई पहुंचे IPS को Quarantine करने के बाद से मामला और बिगड़ गया है. बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे्य ने कहा कि बिहार पुलिस बीएमसी कमिश्नर को विरोध पत्र भेजेगी. ये प्रोटेस्ट लेटर आईजी पटना भेजेंगे. उन्होंने कहा कि हमने केंद्र सरकार की क्वारंटीन गाइडलाइन को पढ़ा है. उसके मुताबिक हमारे अधिकरी ने कहीं भी नियम का उल्लंघन नहीं किया है. हमारे अधिकारी सूचना देकर गए हैं. हमारे अधिकरी को क्वारंटीन करने के कारण हमारी जांच प्रभावित हुई है. हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. पांडेय ने कहा, ‘हमारे दूसरे 4 अधिकरियों को भी क्वारंटीन करने के लिए खोज की जा रही है. पटना पुलिस से भी मुंबई पुलिस ने लोकेशन मांगा है.’

दूसरी तरफ अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस के मामले में मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने सोमवार को बड़ा बयान देते हुए कहा कि बिहार पुलिस को जांच का अधिकार नहीं है. सिंह ने कहा कि हमारी जांच सही दिशा में है. उन्होंने सुशांत सिंह केस से जुड़े कई बड़े खुलासे अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में किए.

सिंह ने कहा कि कुछ फाइनेंशियल एंगल के बारे में भी हमने पढ़ा था. बिहार पुलिस के एफआईआर में भी लिखा है. सिंह ने कहा कि सुशांत के खातों की जांच और उनके सीए से पूछताछ में अब तक पता चला है कि उनके अकाउंट में कुल तकरीबन 18 करोड़ रुपये थे जिसमें से चार, साढ़े चार करोड़ रुपए अभी भी उनके अकाउंट में एफडी वगैरह में हैं. बाकी के 13-13.5 करोड़ रुपए जो खर्च हुए हैं, उसकी जांच चल रही है. अब तक ऐसा दिख रहा है कि ये पैसे रिया को डायरेक्टली ट्रांसफर नहीं हुआ है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch