Sunday , May 26 2024

एक और बुरी खबर, अब इस एक्‍ट्रेस ने की खुदकुशी, मरने से पहले FB Live में कही ऐसी बात

फिल्म इंडस्ट्री से पिछले कुछ समय से लगातार बुरी खबरें सामने आ रही हैं। एक के बाद एक इंडस्‍ट्री से जुड़े लोग खुद की जान लेने पर आमादा है । कल ही टीवी आर्टिस्‍ट समीर शर्मा के सुसाइड की खबर ने सबको सकते में डाल दिया, तो वहीं अब एक एक्‍ट्रेस ने भी खुदकुशी कर ली है । चंद रोज पहले ही अभिनेत्री ने फेसबुक लाइव किया था, बहुत ही डिप्रेस्‍ड बातें भी कर रहीं थीं, लेकिन किसी को अंदाजा नहीं हुआ कि वो इतना बड़ा कदम उठाने की तैयारी में थीं ।

एक्‍ट्रेस अनुपमा पाठक ने किया सुसाइड

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने सुसाइड कर लिया है, न्यूज एजेंसी IANS के ट्वीट के मुताबिक उन्होंने मुंबई स्थित अपने फ्लैट पर फांसी लगाकर जान दे दी है। अनुपमा की डेड बॉडी उनके मुंबई के दहिसर स्थित घर में फंदे पर लटकी पाई गई । एक्‍ट्रेस की उम्र 40 वर्ष थी । अनुपमा के फ्लैट से एक सुसाइड नोट भी मिला है । जिसमें उन्होंने ये कदम उठाने के दो कारण बताए हैं।

परेशान थीं अनुपमा

अनुपमा पाठक ने इस सुसाइड नोट में लिखा है –  ‘मैंने एक दोस्त की रिक्वेस्ट पर मलाड की विसडम प्रोड्यूसर कंपनी में 10 हजार रुपये निवेश किए थे। कंपनी को मेरे पैसे दिसंबर 2019 में वापस करने थे। कंपनी मेरा पैसा वापस करने में आनाकानी कर रही है।’ अनु पमा ने मौत से पहले आखिरी बार अपने फैंस से फेसबुक लाइव के जरिए बहुत सारी बातें शेयर की थीं । उनकी बातों से लग रहा है कि वो उस वक्‍त कितना परेशान थी ।

धोखे की कही बात

अनुपमा ने वीडियो में बताया था कि उनके साथ धोखा हुआ है, और वह अब किसी पर भरोसा नहीं कर सकती हैं। अनुपमा ने कहा था –  ‘अगर आप किसी पर भरोसा करके उसे अपनी प्रॉब्लम बताते हैं कि आप अपनी जान देने के बारे में सोच रहे हैं, तो वह आपका कितना भी अच्छा दोस्त क्यों न हो वह आपको उससे दूर रहने के लिए ही कहेगा। क्योंकि कोई भी नहीं चाहता कि मरने के बाद वह आपकी वजह से मुसीबत में न पड़ जाए। यही नहीं वह दूसरों के सामने न सिर्फ आपका अनादर बल्कि आपका मजाक भी उड़ाएगा। इसलिए कभी भी अपनी समस्याओं को किसी के साथ साझा न करें और कभी किसी को अपना दोस्त न समझें।’  अनुपमा बिहार के पूर्णिया की रहने वाली थीं । उन्‍ळोने भोजपुरी फिल्मों के साथ टीवी में भी काम किया है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch