Saturday , September 19 2020

Bihar NDA में खिंची तलवार: PM मोदी के साथ चिराग ने मिलाया सुर, JDU MP बोले- जिस डाल पर बैठे, उसे ही काट रहे

पटना। बिहार में सत्‍ताधारी राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में ऑल इज वेल नहीं दिख रहा है। गठबंधन के घटक दल जनता दल यूनाइटेड (JDU) व लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) का तनाव चरम पर पहुंचता दिख रहा है। एलजेपी सुप्रीमो चिराग पासवान (Chirag Paswan) बिहार की नीतीश सरकार (Nitish Government) के काम-काज की खुली आलोचना करते दिख रहे हैं। उधर, जेडीयू के नेता भी एलजेपी सुप्रीमो पर खूब तीर चल रहे हैं। ताजा विवाद कोरोना की जांच (CoronaVirus Test) को बढ़ाने के चिराग पासवान के बयान पर जेडीयू सांसद ललन सिंह (JDU MP Lalan Singh) के पलटवार से खड़ा हुआ है। ललन सिंह ने चिराग पासवान को सूरदास एवं कालीदास (Kalidas) बताया, जिसके पलटवार में एलजेपी ने ललन सिंह को भी सूरदास एवं कालीदास करार दिया। खास बात यह है कि ताजा विवाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बिहार में कोरोना जांच बढ़ाने की बात के साथ चिराग पासवान के सुर मिलाने से उभरा है।

बिहार में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के संबंध में चिराग पासवान ने अपनी पार्टी के एक ट्वीट को रिट्वीट किया। इस ट्वीट में लिखा है कि एलजेपी पहले से ही यह मांग कर रही है कि राज्‍य में कोरोना की जांच बढ़ाने की जरूरत है। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)  के  हस्तक्षेप कर सुझाव देने के बाद आशा ही नहीं, बल्कि विश्वास है कि बिहार सरकार जांच बढ़ाएगी, ताकि राज्‍य को कोरोना से सुरक्षित किया जा सके। इस ट्वीट के साथ प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) का एक ट्वीट भी है, जिसमें बिहार सहित कुछ राज्‍यों में, जहां कोरोना पॉजिटिविटी दर अधिक है, जांच बढ़ाने पर बल दिया गया है।

एलजेपी के ट्वीट पर भड़के ललन, बोले- कालीदास बने चिराग

एलजेपी के इस ट्वीट पर जदयू सांसद ललन सिंह चिराग पासवान पर भड़क गए। उन्‍होंने चिराग की तुलना कालीदास से कर डाली। कहा कि कालीदास उसी डाल को काट रहे थे, जिस पर बैठे थे। चिराग भी कुछ ऐसा ही कर रहे हैं। जाे धरातल पर है, उनकी समझ में नहीं आ रहा है और वे विपक्ष की भूमिका निभा रहे हैं। ललन पावान इतने पर ही नहीं रुके। एक कहावत ‘निंदक नियरे राखिए आंगन कुटी छवाए’ का हवाला देते हुए कहा कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार इन बातों पर ध्यान नहीं देते हैं। वे अपना काम करते हैं। आज की तारीख में बिहार में प्रतिदिन लगभग 83 हजार कोरोना जांच हो रही है, जिसे अगले तीन दिनों में एक लाख करने का लक्ष्य है। बिहार का रिकवरी रेट भी लगभग 66 फीसद है।

एलजेपी का पलटवार: आपने भी थी तो कही थी ये बात

ललन सिंह के बयान पर एलजेपी प्रवक्ता अशरफ अंसारी ने पलटवार करते हुए ललन सिंह को सूरदास करार दिया। कहा कि ललन सिंह को कुछ भी ठीक से दिखाई नहीं देता है। उन्‍होंने कहा कि बीते दिनों मुंगेर में कोरोना वायरस को लेकर हुई बैठक के दौरान खुद ललन सिंह ने जांच की गति कम होने की बात कही थी। लेकिन आज इसे खारिज कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि बिहार में कोरोना जांच को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चिंता जाहिर की है, चिराग पासवान प्रधानमंत्री की चिंता के साथ अपनी चिंता जता रहे हैं। लेकिन जेडीयू को यह बात समझ में नहीं आ रही है। जेडीयू को यह समझ लेना चाहिए कि एलजेपी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के कारण केंद्र सरकार में है, जेडीयू के कारण नहीं। उन्‍होंने ललन सिंह और जेडीयू के नेताओं को बेवजह चिराग पासवान के खिलाफ बयानबाजी से बाज आने की भी नसीहत दी।

चिराग के बहाने प्रधानमंत्री पर निशाना लगा रहे ललन

एलजेपी के प्रवक्‍ता संजय सिंह ने कहा है कि ललन सिंह भ्रमित हैं। वे चिराग पासवान के बहाने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना लगा रहे हैं। बिहार में कोरोना की जांच कम हो रही है, यह बात केवल एलजेपी नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री भी बोल रहे हैं। जेडीयू का चिराग पासवान की आड़ में प्रधानमंत्री पर हमला कीना उचित नहीं है। प्रधानमंत्री की बातों को सलाह के रूप में लेना चाहिए। ललन सिंह का यह रवैया बताता है कि वे खुद कालिदास बनकर अपनी ही सरकार को डुबाेना चाहते हैं।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति