Tuesday , September 22 2020

विश्वासमत हासिल करने के बाद बोले पायलट- मैं अब सरकार का हिस्सा नहीं, आखिरी सांस तक प्रदेश के लिए समर्पित

नई दिल्ली। राजस्थान में लंबे समय से जारी सियासी खींचतान के बाद आज (शुक्रवार से) विधानसभा सत्र के पहले दिन बहस के बाद ध्वनिमत से गहलोत सरकार ने विश्वामत हासिल कर लिया। इसके साथ ही विधानसभा 21 अगस्त तक के लिए स्थगित हो गया है। बहस का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर जमकर हल्ला बोला। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने तय कर रखा है कि राजस्थान की सरकार गिरा के रहेगी लेकिन मैं गिरने नहीं दूंगा। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह को सपने में सरकारें दिख रही हैं। राजस्थान सीएम ने कहा कि कांग्रेस का इतिहास पढ़ो तो आपकी आंखें खुल जाएगी। उन्होंने कहा कि आज जो दिल्ली में घमंड दिख रहा है, जनता कब उसे उल्टा कर दे पता नहीं।

जबकि, सचिन पायलट ने कहा कि बहस के दौरान चर्चा सरकार के गुण-अवगुण पर होनी चाहिए।पायलट ने कहा कि आज मैं सदन में आया तो देखा कि मेरी सीट पीछे रखी गई है। मैं आखिरी कतार में बैठा हूं। मैं राजस्थान से आता है, जो कि पाकिस्तान बॉर्डर पर है। बॉर्डर पर सबसे मजबूत सिपाही तैनात रहता है। मैं जब तक यहां बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है।

तो वहीं विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने गहलोत सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि गलती आप करो और दोष हम पर मढ़ो। उन्होंने कहा  सरकार को बचाने के लिए दुरुपयोग गया। उन्होंने गहलोत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा का क्या फोन टैपिंग अनुमति लेकर की गई?

कटारिया यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि राजस्थान पुलिस की प्रतिष्ठा दांव पर लगाई गई। उन्होंने आगे कहा कि अगर सरकार गिराने की मंशा होती तो अविश्वास प्रस्ताव लाते। कांग्रेस के दो खेमे में पिछले दिनों बटने को लेकर गुलाब चंद कटारिया न कहा कि दो खेमे तो आपने बनाए। गलती आप करो और दोष हम पर मढ़ो।

 Rajasthan Assembly Session Live updates

-राजस्थान विधानसभा सत्र के बाद सचिन पायलट- पहले मैं सरकार का हिस्सा था आज नहीं हूं लेकिन यहां पर कौन कहां बैठता है ये महत्वपूर्ण नहीं है लोगों के दिल और दिमाग में क्या है ये ज्यादा महत्वपूर्ण है…जीवन की आखिरी सांस तक मैं इस प्रदेश के लिए समर्पित हूं। उन्होंने कहा- आज सदन के अंदर विश्वास मत को बहुमत से पारित किया गया जो अटकलें लगाई जा रही थीं उन्हें विराम मिला है।

– सराकर गिराने के आरोप पर बीजेपी नेता गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि क्या कांग्रेस विधायक बीजेपी से पूछकर राजस्थान से बाहर गए थे? आप अपनी पार्टी की गुटबाजी को हमारे पर मढ़ रहे हैँ।

– राजस्थान विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव के दौरान हंगामा हो रहा है। इस दौरान स्पीकर सीपी जोशी ने विधायकों को फटकार लगाई। बीजेपी नेता गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि सरकार गिराने की मंशा होती तो अविश्वास प्रस्ताव लेकर आता।

– जब मैं विधानसभा में आया तो मैंने सोचा कि विपक्ष के बेंच के ठीक बगल में क्यों बैठा हूं। तब मुझे महसूस हुआ कि यह सीमा है। मुझे सीमा पर भेजा गया है क्योंकि सीमा पर लड़ने के लिए केवल सबसे बहादुर सैनिक को भेजा जाता है।

-सचिन पायलट ने कहा सभी विधायक यहां हैं और हम सभी एकजुट हैं।

-सचिन पायलट ने कहा कि दिल्ली में डॉक्टर ने हमारी समस्या का समाधान कर दिया, अब हम आक्रमण करने के लिए तैयार हैं।

-विश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान सचिन पायलट ने कहा, ‘जब मैं आज विधानसभा आया तो मुझे हैरानी हुई कि मेरी सीट विपक्ष की बेंच के ठीक बगल में पीछे कोने में क्यों है। तब मुझे एहसास हुआ कि यह बॉर्डर है। मुझे बॉर्डर पर भेज दिया गया है, क्योंकि बोर्डर पर सबसे बहादुर सैनिक को लड़ने के लिए भेजा जाता है।’ उन्होंने आगे कहा कि जब तक मैं सीमा पर यहां बैठा हूं, मेरे रहते सरकार सुरक्षित है।

-विश्वास मत पर बीजेपी के राजेंद्र राठौड़ के भाषण के दौरान सचिन पायलट ने हस्तक्षेप किया और कहा कि उनका निर्वाचन क्षेत्र बॉर्डर के पास है। उन्होंने कहा कि वह, वो सबसे शक्तिशाली हैं, जिसे बॉर्डर पर भेजा जाता है।

-विधानसभा में गहलोत सरकार ने विश्वास प्रस्ताव रख दिया है, जिस पर बहस जारी है।

-कानून और संसदीय कार्य मंत्री शांति कुमार धारीवाल ने राज्य विधानसभा में होने वाले एक विश्वास मत के प्रस्ताव को सदन के सामने रखा है। सदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने विधानसभा में कहा कि यह सदन मंत्री परिषद और सरकार में विश्वास प्रकट करता है।

-भारतीय जनता पार्टी गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर नहीं आई है।

-विधानसभा सत्र की कार्यवाही शुरू होने के बाद स्पीकर की ओर से शोक अभिव्यक्ति की गई। इसके बाद सदन की कार्यवाही को दो मिनट के मौन के बाद एक बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

-कांग्रेस के कुछ विधायक यहां एक होटल में ठहरे हुए थे, जो भारी बारिश और यातायात की भीड़ के कारण समय पर विधानसभा नहीं पहुंच सके।

-सदन ने सुबह 11 बजे इकट्ठा होकर पूर्व सांसद राज्यपाल लालजी टंडन और छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और अन्य नेताओं को श्रद्धांजलि दी। लालजी टंडन का हाल ही में निधन हो गया।

-विधानसभा सत्र की कार्यवाही शुरू हो चुकी है। अब स्पीकर सीपी जोशी की ओर से पहले सत्र से जुड़ा ब्यौरा पेश किया गया है। वहीं इसके बाद स्पीकर ने देश के लिए शहीद हुए जवानों के लिए दो मिनट का शोक करवाया है।

-विधानसभा सत्र में हिस्सा लेने के लिए वसुंधरा राजे और सचिन पायलट विधानसभा पहुंच गए हैं। विधानसभा पहुंचकर उन्होंने वहां मौजूद पत्रकारों का मुस्कुराकर अभिवादन किया।

-विधानसभा का सत्र शुरू हो गया है। सत्र से पहले अशोक गहलोत ने ट्वीट कर लिखा कि सत्य की जीत होगी।

-कांग्रेस ने अपने दो विधायकों विश्वेंद्र सिंह तथा भंवरलाल शर्मा का निलंबन रद्द किया। लेकिन दिन की सबसे महत्वपूर्ण घटना पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात रही। लगभग एक महीने की सियासी खींचतान का एक तरह से पटाक्षेप करते हुए दोनों नेता मुख्यमंत्री निवास में मिले।

-इसके बाद कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई जिसमें पायलट व 18 अन्य विधायक भी शामिल हुए। बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत ने विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव लाने की घोषणा की।

-बैठक में मौजूद रहे पार्टी के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने पीटीआई भाषा से कहा,’ कांग्रेस विश्वास प्रस्ताव लाएगी। हमने इसके लिए विधानसभा सचिवालय को अर्जी दी है। विधानसभा की कार्य संचालन समिति इस बारे में कोई फैसला लेगी।’

-गहलोत ने विधायक दल की बैठक में विधायकों से पिछले महीने भर में हुई बातों को भूलकर आगे बढ़ने को कहा। इसके साथ ही उन्होंने आश्वस्त किया कि सभी विधायकों की शिकायतें दूर होंगी। बैठक के बाद कांग्रेस महासचिव के सी वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी एकजुट है और विधानसभा में एकजुटता से मुकाबला करेगी।
उन्होंने,’सबकुछ ठीक रहा। अब कांग्रेस पार्टी एकजुट है। हम भाजपा की तुच्छ राजनीतिक का एकजुटता से मुकाबला करेंगे’ कांग्रेस खेमे के विधायक अभी होटल में ही रुकेंगे और वहीं से विधानसभा पहुंचेंगे ।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति