Thursday , September 24 2020

7 नंबर के जादूगर रहे धोनी, जानें वो सात रिकॉर्ड जो उन्हें सबसे जुदा बनाते हैं

रांची की गलियों से निकला लड़का जिसने अपने एक हेलिकॉप्टर शॉट से पूरी दुनिया को अपने कदमों के आगे झुका दिया, वो महेंद्र सिंह धोनी अब कभी नीली जर्सी पहने क्रिकेट के मैदान पर नहीं दिखेगा. देश जब आजादी के दिन का जश्न मना रहा था, तब धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के बंधंनों से खुद को आज़ाद कर दिया. महेंद्र सिंह धोनी ने टीम इंडिया को हर वो खिताब जितवाया, जिसे क्रिकेट की दुनिया में सर्वश्रेष्ठ कहा जाता है. उनके नाम कई ऐसे रिकॉर्ड भी रहे, जिन्होंने माही को दूसरों से अलग कर दिया. धोनी का लकी नंबर 7 रहा है, ऐसे में उनके कुछ सात खास रिकॉर्ड पर नजर डालिए..

1. 7वें नंबर पर बल्लेबाजी कर के दो शतक

करियर की शुरुआत में धोनी ऊपरी क्रम में बैटिंग करते थे, लेकिन जब से कप्तान बने उसके बाद से वे निचले क्रम में खेलने लगे. 7वें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए धोनी के नाम सबसे ज्यादा वनडे शतक लगाने का रिकॉर्ड है. उन्होंने इस क्रम पर दो शतक लगाए हैं, एक 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ और दूसरा एशिया इलेवन की ओर से अफ्रीका इलेवन के खिलाफ.

2. छक्कों के सरताज माही

मैदान पर लंबे-लंबे छक्के मारने की क्षमता हमेशा ही धोनी की ताकत रही है. धोनी ने कुल 359 छक्के जड़े हैं. इनमें से 229 छक्के तो वनडे में ही हैं. धोनी वनडे में सबसे अधिक छक्के मारने वाले भारतीयों में से एक हैं, कई ऐसे मौके आए हैं जब उन्होंने छक्का लगाकर ही मैच खत्म किया है. 2011 विश्वकप फाइनल का छक्का कोई कैसे भूल सकता है.

3. इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग

धोनी जितने चतुर बल्लेबाज हैं विकेट के पीछे उनकी फुर्ती भी उतनी ही दिखती है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में धोनी के नाम 195 स्टंपिंग का रिकॉर्ड है. वहीं अगर कुल शिकार की बात करें, धोनी ने कुल 829 शिकार ( कैच-स्टंपिंग) किए हैं.

4. विकेटकीपर के तौर पर एक इनिंग में सबसे ज्यादा रन

एक विकेटकीपर के तौर पर एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी धोनी के नाम हैं. धोनी ने 2005 में जयपुर में श्रीलंका के खिलाफ 183 रन बनाए थे, यही धोनी का वनडे में सर्वश्रेष्ठ स्कोर भी रहा. इसके अलावा टेस्ट में उन्होंने एक दोहरा शतक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जड़ा.

5. तूफानी खिलाड़ी के नाम सिर्फ दो ही अर्धशतक

तेज बल्लेबाजी करने के लिए जाने जाने वाले धोनी के नाम एक अनोखा रिकॉर्ड भी है. उन्होंने कुल 98 टी-20 खेले हैं, जिनमें 1617 से अधिक रन बनाए हैं लेकिन अर्धशतक सिर्फ 2 हैं. टी-20 मैचों में कई बार धीमी बल्लेबाजी के लिए धोनी का आलोचना का शिकार होना पड़ा.

6. अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैचों में सबसे ज्यादा जीत

बतौर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नाम कई रिकॉर्ड हैं, जिनमें से एक सबसे ज्यादा टी-20 जीत का है. धोनी ने 72 टी-20 में कप्तानी की और 41 मैच जीते. भारत ने वनडे में भी सबसे ज्यादा मैच धोनी की कप्तानी में ही जीते हैं.

7. विकेटकीपर होने के बावजूद बॉलिंग करने का रिकॉर्ड

ये रिकॉर्ड थोड़ा अनोखा है, विकेटकीपर होने के बावजूद भी धोनी ने अभी तक 9 मैचों में गेंदबाजी की है. इससे पहले भारत की ओर से सैयद किरमानी ने भी 3 बार गेंदबाजी में हाथ आजमाया था.

इसके अलावा भी बतौर कप्तान सभी आईसीसी ट्रॉफी जीतना, भारत को नंबर 1 टीम बनाना, कई मैचों में टीम को हार के मुंह से निकाल कर जीत दिलवाना ऐसे कई कारनामें धोनी के नाम है. अलविदा धोनी.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति