Thursday , October 1 2020

शेख राशिद का हास्यास्पद बयान, कहा- हमारे पास ऐसा एटम बम जो मुसलमानों को बचाते हुए हिंदुस्‍तान को करेगा टारगेट

इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान के बयान बहादुर नेताओं में शुमार शेख राशिद ने फ‍िर एक हास्यास्पद बयान दिया है। रेलमंत्री शेख राशिद ने भारत को एटमी हमले की धमकी देते हुए कहा कि यदि हिंदुस्तान ने पाकिस्‍तान पर हमला किया तो कन्‍वेंशन वॉर (Convention war, परंपरागत युद्ध) की कोई गुंजाइश नहीं है। यह खूनी और आख‍िरी जंग होगी। यह एटमी जंग होगी। उन्‍होंने कहा कि हमारा हथियार बहुत छोटा, कैलकुलेटेड, परफेक्‍ट, निशाने पर लेने वाला और मुसलमानों की जानें बचाते हुए इलाकों को टारगेट करने वाला है।

समा टीवी को दिए इंटरव्‍यू में शेख राशिद (Sheikh Rashid Ahmed) ने दावा किया कि पाकिस्‍तान अब असम तक भारतीय इलाकों को टारगेट कर सकता है। उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान के वैज्ञानिक बहुत जबर्दस्‍त हैं। पाकिस्‍तान के पास कन्‍वेंशन वॉर (Convention war, परंपरागत युद्ध) की गुंजाइश बहुत कम है। हिस्‍दुस्‍तान को यह बात बखूबी पता है। वैसे पाकिस्‍तानी रेल मंत्री तो पहले भी भारत को परमाणु हमले की धमकी दे चुके हैं। इस बार उनकी धमकी इस मायने में नई है कि पाकिस्‍तान के पास ऐसा एटम बम है जो मुसलमानों को नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

इससे पहले पाकिस्‍तानी रेल मंत्री शेख राशिद ने कहा था‍ कि अब ऐसा युद्ध नहीं होगा कि 4-6 दिन तक टैंक, तोपें चलेंगी। अब सीधे-सीधे परमाणु युद्ध होगा। उन्‍होंने दावा किया था कि पाकिस्तान के पास सवा सौ ग्राम और ढाई सौ ग्राम के भी परमाणु बम हैं जो किसी खास टारगेट पर मार कर सकते हैं। शेख राशिद ने कहा था, ‘भारत सुन ले कि पाकिस्तान के पास पाव और आधा पाव के परमाणु बम भी हैं जो किसी खास इलाके को निशाना बना सकते हैं।’ वैसे शेख राशिद जानबूझकर ऐसे हास्यास्पद बयान देते हैं। यही वजह है कि ये बयान सोशल मीडिया पर खूब वायरल भी होते हैं।

वैसे शेख राशिद को यह पता होना चाहिए कि युद्ध के दौरान चलने वाले बम और गोले हिंदू, मुसलमान या ईसाई में फर्क नहीं करते हैं। अपने ऊटपटांग बयानों से चर्चा में रहने वाले शेख राशिद का पिछले साल तब मजाक उड़ा था जब एक जलसे में बोलते वक्‍त उन्‍हें माइक से करंट लग गया था। तब अपने संबोधन में वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम ले रहे थे। करंट लगने के बाद उन्‍होंने कहा था कि इसके पीछे भी भारत का हाथ है। पाकिस्‍तानी हुक्‍मरानों की भारत के प्रति नफरत कोई अप्रत्‍याशित नहीं है। उनकी सियासत ही भारत विरोध से शुरू होती है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति