Thursday , September 24 2020

बलरामपुर के आतंकी अबू को अफगानिस्तान से मिल रहे थे ऑर्डर, राम मंदिर का लेना था बदला: 6 ठिकानों पर रेड

दिल्ली में गिरफ्तार किए गए ISIS आतंकी अबू यूसुफ खान राम मंदिर को लेकर गुस्से में था और इसीलिए आतंकी हमले की साजिश रच रहा था। पुलिस से पूछताछ में उसने खुलासा किया है कि वो दिल्ली और यूपी में धमाके की फिराक में था। उसने बताया कि राम मंदिर को लेकर आतंकियों के भीतर गुस्सा है। वो अफगानिस्तान में बैठे अपने आकाओं के लगातार संपर्क में था और उनसे निर्देश ले रहा था।

एनसजी की टीम फ़िलहाल इस बात की जाँच में लगी हुई है कि आतंकी के पास से जब्त प्रेशर कूकर में मौजूद विस्फोटक किस प्रकार का था और उसमें कौन से केमिकल का प्रयोग किया गया था। इससे पहले ही ख़ुफ़िया एजेंसियों द्वारा जारी किए गए अलर्ट में कहा गया था कि राम मंदिर को लेकर आतंकियों का गुस्सा उबाल पर है और वो किसी हमले को अंजाम दे सकते हैं। बताया गया था की राजधानी दिल्ली और वीआईपी उसके निशाने पर हैं।

पूछताछ में उसने बताया कि दिल्ली में हमले के बाद फिदायीन हमला उसका अगला कदम होता। दरअसल, जिस आतंकी ने उसे परिवार सहित अफगानिस्तान बुलाने का वादा किया था, वो मारा गया। उसका दूसरा हैंडलर भी एक अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा गया। नए हैंडलर ने उसे भारत में ही रह कर काम करने को कहा था। वो 2010 से पहले काम करने सऊदी अरब गया था लेकिन वो ISIS के संपर्क में आकर आतंकी बन गया।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीएसपी ने बताया कि अबू यूसुफ खान कोरोना के कारण कम सक्रिय हो गया था, वरना वो पहले ही किसी बड़े आतंकी हमले को अंजाम देने दिल्ली आता। बाद में उसने स्वतंत्रता दिवस के दिन हमले की योजना बनाई पर कामयाब नहीं हुआ। वह गाँव में कॉस्मेटिक की दुकान चलाता था। उसे लगा था कि अब दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी नहीं होगी, इसीलिए वो फिर से आया था।

एनएसजी को भी इस मामले की जाँच में शामिल किया गया है। उससे ये पूछा जा रहा है कि उसने दिल्ली के किन-किन इलाकों की रेकी की थी और उसकी जानकारी किसे उपलब्ध कराई थी। नोएडा में उत्तर प्रदेश और दिल्ली की सीमा पर जाँच अभियान चलाया जा रहा है। अब यूपी के अलावा उत्तराखंड में इस मामले से जुड़ी छापेमारी चल रही है। अब तक दिल्ली गाजियाबाद और उत्तराखंड के 6 ठिकानों पर छापा हो चुका है।

साथ ही बलरामपुर में भी दिल्ली पुलिस की एक टीम पहुँची हुई है। वहाँ पूरे इलाके को घेर कर छापेमारी अभियान चलाया गया है और कुछ क्षेत्रों में पुलिस की तैनाती बढ़ा कर आमजनों का प्रवेश वर्जित किया गया है। ज्ञात हो कि  राष्ट्रीय राजधानी के रिंग रोड में हुए एक मुठभेड़ के बाद खूँखार वैश्विक आतंकी संगठन ISIS के आतंकी अबू युसूफ खान को शुक्रवार (अगस्त 21, 2020) आधी रात को गिरफ्तार किया गया।

उक्त आतंकी के बारे में ये भी पता चला है कि वो ‘इस्लामिक स्टेट इन खोरासन प्रोविंस (ISKP)’ के भी संपर्क में था और अफगानिस्तान के आतंकियों की मदद से भारत में हमला करने वाला था। वो कश्मीर में सक्रिय आतंकी संगठनों से भी संपर्क में था। उसे यूपी पुलिस आगे की जाँच के लिए उसके पैतृक क्षेत्र बलरामपुर लेकर आएगी। वो साइबरस्पेस के जरिए देश-विदेश के आतंकियों के साथ संपर्क में था।

इससे पहले भी खबर आई थी कि इस्लामिक आतंकी इस बार भी साल 1993 जैसा साम्प्रदायिक माहौल बनाने की फिराक में हैं। केंद्र ने इसी कारण 2 राज्यों को रेड अलर्ट पर भी रखा है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति