Saturday , September 26 2020

विहिप ने फिर किया देश को आगाह, इन अवैध गतिविधियों से है ‘राष्ट्रीय सुरक्षा’ को खतरा

नई दिल्ली। विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने बिहार के सीमांचल में चलने वाली अवैध गतिविधियों को राष्ट्रीय सुरक्षा (National Security) के लिए बड़ा खतरा बताया है. विहिप की ताजातरीन रिपोर्ट के मुताबिक सीमांचल के चार जिलों में धर्मांतरण(Conversion), लव जेहाद (Love jihad) और बांग्लादेशियों की अवैध घुसपैठ (Illegal infiltration of Bangladeshis) की घटनाओं में तेजी से इजाफा हुआ है. संगठन (Organization) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) से इस इलाके में ईमानदार और तेजतर्रार अफसरों (Officers) की नियुक्ति की मांग करते हुए चेतावनी दी है कि जल्दी ही ठोस कार्रवाई न होने से हालात चिंताजनक हो सकते हैं.

विहिप के शीर्ष नेताओं में से एक और राष्ट्रीय महासचिव मिलिंद परांडे (National General Secretary Milind Parande) ने बीते दिनों दिल्ली (Delhi) से बिहार (Bihar) जाकर सीमांचल के दौरे के दौरान स्थानीय लोगों (Local people) के साथ कई बैठकें कीं. इस दौरान लोकल लोगों ने उन्हें इन गतिविधियों की रिपोर्ट देते हुए बताया कि प्रशासन की अनदेखी से सीमांचल धीरे-धीरे बारूद की ढेर पर खड़ा नजर आ रहा है. राष्ट्रविरोधी (anti national) और हिंसक गतिविधियां बढ़ती जा रही हैं.

विहिप के राष्ट्रीय महासचिव मिलिंद परांडे ने बिहार के सीमांचल के दौरे के दौरान स्थानीय स्तर (Local level) से मिली रिपोर्ट के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि बिहार के कटिहार, पूर्णिया, किशनगंज, अररिया सीमांचल के जिले हैं, जो पश्चिम बंगाल से सटे हैं. परांडे ने आरोप लगाया कि एक साजिश के तहत बांग्लादेशियों की घुसपैठ से सीमांचल की डेमोग्राफी (Demography) तेजी से बदल रही है. किशनगंज (Kishanganj) में वर्ग विशेष की आबादी 80 प्रतिशत हो चुकी है, तो कटिहार(Katihar), पूर्णिया (Purnia) और अररिया (Araria) में भी 45 प्रतिशत आबादी है. जिसके बाद यहां बहुसंख्यकों पर हमले की घटनाएं बढ़ी हैं.

मिलिंद परांडे ने कहा कि स्थानीय लोगों के मुताबिक पूर्णिया में हर साल दो सौ लव जेहाद की घटनाएं हो रही हैं. विरोध करने वाले एक कार्यकर्ता पर सात बार हमला हो चुका है. इसी जिले में सुखलाल मांझी (Sukhlal Manjhi) नामक व्यक्ति की बीते दिनों हत्या कर दी गई. सुखलाल मांझी की मौत के बाद परिवार के सामने जीविका का संकट हो गया, तब परिजनों की मांग पर संगठन ने चार सुअर उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है. आरोप है कि मांझी की मौत पर पुलिस केस नहीं दर्ज कर रही थी, मगर विहिप के दबाव पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ.

विहिप महासचिव मिलिंद परांडे ने सीमांचल में बड़े पैमाने पर धर्मातरण (Conversion) का भी दावा किया. उन्होंने कहा कि पूर्णिया (Purnia) और अररिया (Araria) में अनुसूचित जनजाति (scheduled tribe) वर्ग की बड़ी आबादी है. पूर्णिया में उरांव (Oraon) तो अररिया में संथाल वर्ग के आदिवासी हैं. ऐसे में इस इलाके में ईसाई मिशनरी (Christian missionary) सक्रिय हैं. प्रलोभन देकर लोगों का धर्म बदलने पर मजबूर किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बंगाल (Bengal) के मुर्शिदाबाद (Murshidabad) जिले से सटे झारखंड (Jharkhand) के पाकुड़ और साहिबगंज (Pakur and Sahibganj) में घुसपैठ (Infiltration) की घटनाएं बढ़ी हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि कई आतंकी संगठनों के स्लीपर सेल (Sleeper cell) भी इन जिलों में मौजूद हैं.

बिहार के विधान सभा चुनाव (Assembly elections) से पहले विश्व हिंदू परिषद की ओर से जिस तरह से सीमांचल में अवैध गतिविधियों (Illegal activities) के खिलाफ मोर्चा खोला गया है, माना जा रहा है कि यह आगे एक बड़ा मुद्दा बन सकता है. सीमांचल की बात करें तो इसमें कुल चार जिले आते हैं. पूर्णिया, कटिहार, अररिया और किशनगंज जिलों में कुल 22 विधानसभा सीटे (Assembly seat) हैं.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति