Monday , September 21 2020

पठानकोट में क्रिकेटर सुरेश रैना के परिजनों पर हमला: फूफा की मौत, बुआ की हालत नाजुक, पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं अपराधी

पूर्व भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना के रिश्तेदारों पर 19 अगस्त की रात अज्ञात हमलावरों ने हमला किया था। उस हमले में उनके फूफा की मृत्यु हो गई, जबकि उनकी बुआ की हालत गंभीर बनी हुई है। बता दें पठानकोट के थरियाल गाँव में आधी रात अपने घर की छत पर सोते समय अज्ञात हमलावरों ने उन पर घातक हमला किया था।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, सुरेश रैना की बुआ आशा देवी इस समय अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी हालत काफी नाजुक है। जबकि उनके पति अशोक कुमार का निधन हो गया है। भारतीय क्रिकेटर के चचेरे भाई कौशल कुमार, अपिन कुमार और 80 वर्षीय दादी भी घायल हुए हैं। उन पर घातक हथियारों से हमला किया गया था। हालाँकि, अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि उनके रिश्तेदारों पर हमले का वास्तविक कारण क्या था।

घटना वाली रात हमलावरों ने परिवार के सदस्यों को जरा भी संभलने का मौका नहीं दिया। वहीं इस घटना ने तब तूल पकड़ा जब यह बात सामने आई कि यह दिग्गज क्रिकेटर सुरेश रैना का घर है। पुलिस और फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने मौके पर पहुँच कर घटना स्थल का जायजा लिया था। रिपोर्ट के मुताबिक घर से गायब चेक बुक और अन्य जरूरी कागजात घर के कुछ दूरी पर बरामद हो गए थे। फिलहाल अभी तक पुलिस के हाथों कोई सबूत नहीं लगे है। जाँच के लिए डॉग स्कवायड की मदद भी ली जा रही है।

इस मामले में सुरेश रैना के भाई दिनेश ने पंजाब पुलिस की कार्यप्रणाली पर उँगली उठाते हुए कहा है कि इतने दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस को किसी प्रकार का सुराग हाथ नही लगा न ही किसी की गिरफ्तारी हुई है। उन्होंने CM अमरिंदर सिंह से इस मामले को संज्ञान में लेने के लिए कहा है। साथ ही माँग की है कि जल्द से जल्द आरोपितों के खिलाफ़ सख्त कार्रवाई की जाएँ। उन्होंने बताया इस वारदात ने उनके पूरे परिवार को झकझोर कर रख दिया है। रिश्तेदारों की तरफ से उन्हें इस मामले की जानकारी दी गई थी।

बता दें हाल ही में भारतीय दिग्‍गज खिलाड़ी सुरेश रैना ने क्रिकेट से रिटायरमेंट लिया था। साथ ही वे आईपीएल टूर छोड़कर भारत लौट आए हैं। इसके पीछे पारिवारिक कारण सामने आए है। वह आईपीएल का 13वाँ सीजन नहीं खेलेंगे।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति