Thursday , September 24 2020

चीनी Apps से सट्टेबाजी कराने वाली कंपनियों पर ED ने मारा छापा, 46 करोड़ जब्त

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शनिवार को दिल्ली, गुरुग्राम, मुंबई और पुणे में 15 जगहों पर छापेमारी की और चीनी कंपनियों के 1,268 करोड़ के बड़े ऑनलाइन सट्टेबाजी रैकेट का खुलासा किया. ईडी ने कार्रवाई करते हुए HSBC बैंक के 4 खातों में जमा 46.96 करोड़ रुपये सीज किए. इसके अलावा ईडी ने 5 लैपटॉप, 17 हार्ड डिस्क, फोन और अहम दस्तावेज भी जब्त किए.

आपको बता दें कि ईडी ने ये छापेमारी हैदराबाद में दर्ज हुए सट्टेबाजी के मामले के बाद की थी. हैदराबाद की साइबर पुलिस ने Dokypay Technology Private Ltd और Linkyun Technology Pvt Ltd के खिलाफ मामला दर्ज करके चीन के नागरिक समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया था.

भारत में चीनी कंपनियों का बड़ा नेटवर्क
हैदराबाद के मामले की जांच में पता चला था कि चीनी कंपनियां भारत में सट्टेबाजी का बड़ा नेटवर्क चला रही थीं. चीनी नागरिक चीन में ही रहकर पहले भारत में चार्टर्ड एकाउंटेंट्स की मदद से कई कंपनियां खोलते और उनमें भारतीयों को डमी डायरेक्टर बना देते थे. इन लोगों के जरिए ही भारत में HSBC बैंक में खाते भी खुलवाए जाते थे.

कुछ समय बाद चीन के ये नागरिक भारत आते और कंपनियों की डायरेक्टरशिप ले लेते थे. साथ ही बैंक में खुलवाए गए खाते को ऑनलाइन इस्तेमाल करने के लिए यूजर आईडी और पासवर्ड चीन में भेज देते थे ताकि पैसों का लेन-देन किया जा सके. बैंक खातों के साथ Paytm, Cashfree, Razorpay वॉलेट भी अकाउंट खोल रखे थे, जिसके जरिए भी पैसों का लेन-देन किया जा रहा था.

जांच एजेंसियों से बचने के लिए निकाली ये तरकीब
इन चीनी कंपनियों ने सट्टेबाजी के लिए कई वेबसाइट बना रखी थीं, जिन्हें अमेरिका से  Cloudfare के जरिए चलाया जा रहा था. इन वेबसाइट के जरिए यहां भारत में लोगों को सट्टेबाजी के लिए झांसे में लिया जाता था और फिर ऐप के जरिए सट्टेबाजी करवाई जाती थी. इन चीनी नागरिकों ने बकायदा अपने एजेंट तैयार कर रखे थे, जो सट्टेबाजी के लिए नए लोगों को तैयार करते थे.

जांच एजेंसियों से बचने के लिए सभी वेबसाइट रोज एक्टिव नहीं रहती थीं. इसके लिए Telegram और Whatsapp पर ग्रुप बना रखा था, जिस पर एक्टिव वेबसाइट की जानकारी दी जाती थी.

पिछले साल सट्टेबाजी से कमाए 1,268 करोड़ रुपये
ईडी को छापेमारी के दौरान जो अहम दस्तावेज मिले हैं, उससे पता चला है कि Dokypay Technology Pvt Ltd ने पिछले साल 1,268 करोड़ रुपये सट्टेबाजी से कमाए. इसमें 300 करोड़ रुपये Paytm से आए और 600 करोड़ रुपये Paytm से ही भेजे गए. वहीं Linkyun Technology के जरिए भी इसी तरह से पैसों का लेन-देन सामने आया. इन खातों से 120 करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा में कारोबार का भी पता चला है. इसके अलावा भारत में चल रही ऑनलाइन चाइनीज डेटिंग ऐप के साथ भी पैसों के लेन-देन का पता चला है.

प्रवर्तन निदेशालय को जांच के बाद शक है कि सट्टेबाजी के अलावा ये कंपनियां वॉलेट और बैंक खातों के जरिए हवाला का कारोबार भी कर रही है. ईडी ने इसीलिए वॉलेट कंपनियों और HSBC से लेन-देन की सारी जानकारी मांगी है.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति