Saturday , September 26 2020

‘99% स्टार लेते हैं ड्रग्स, नेता-पुलिस भी इस गैंग में शामिल, मेरे फिल्म का हीरो और उसकी बीवी खुलेआम ले रहे थे ड्रग्स’

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बॉलीवुड में सरेआम इस्तेमाल और सप्लाई किए जा रहे ड्रग्स का एंगल सामने आया है। वहीं कंगना रनौत ने भी इस मामले पर कुछ विस्फोटक खुलासे किए हैं।

एक चैनल पर अर्नब गोस्वामी को दिए एक इंटरव्यू में कंगना रनौत ने इस बात की पुष्टि की कि बॉलीवुड पार्टियों में ड्रग्स पानी की तरह बहता है। इंडस्ट्री में रहने वाले लोग शुरुआती दौर से ही इंडस्ट्री में आए नए लोगों को ड्रग्स देने का काम करते हैं।

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेत्री ने कहा कि बॉलीवुड सितारों के लिए ड्रग्स का इस्तेमाल करना आम बात है, और नए लोग भी ड्रग्स की शुरुआत करते हैं। उन्होंने दावा किया कि 99 प्रतिशत स्टार ड्रग्स का सेवन करते हैं। ड्रग्स डीलर्स भी सेम हैं। वे उन्हें कोकीन, एलएसडी, एक्सटेसी (ecstasy) आदि ड्रग्स की सप्लाई करते हैं।

कंगना ने कहा कि सब कुछ व्यवस्थित तरीके से कंट्रोल किया जाता है। अभिनेताओं की पत्नियाँ भी इन पार्टियों को होस्ट करती हैं। वहाँ पूरी तरह से अलग माहौल रहता है। आपको ऐसी पार्टियों में केवल ऐसे लोग मिलेंगे, जो ड्रग्स लेते हैं और अय्याशी करते हैं।

कंगना रनौत ने आरोप लगाया, “कई सरकारों ने इस बॉलीवुड-ड्रग माफिया को बढ़ाने में मदद की है। ये लोग भाई-भतीजावाद को बढ़ावा देते हैं, उनमें से कई बचपन से ड्रग्स लेते हैं और फिर अभिनेता या निर्देशक बन जाते हैं। इनमें से कई अभिनेताओं में से मैंने एक के साथ डेट किया था। वे एक जगह जाते हैं और एक साथ ड्रिंक्स और ड्रग्स लेना शुरू करते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “यह सब एक ड्रिंक्स के साथ शुरू होता है, फिर एक रोल और फिर एक गोली, और फिर वे सूंघते (ड्रग्स) हैं। यह सब एक गुप्त संकेत में होता है। ये सभी एक्टर और उनकी पत्नियाँ पार्टी में जाती है और ड्रग्स का सेवन करती है। यह एक तरह की अय्याशी है, जिसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते। मैंने देखा है कि यह कितना अश्लील हो जाता है और इन ड्रग्स की वजह से पार्टियों का माहौल कंट्रोल के बाहर हो जाता है।”

अभिनेत्री ने खुलासा किया कि राजनेता और पुलिस अधिकारी बॉलीवुड सितारों द्वारा नशीली दवाओं का उपयोग के बारे में जानते हुए भी अपनी आँखें बंद कर लेते हैं। उन्होंने कहा कि अभिनेता राजनेताओं के लिए प्रचार करते हैं, इसलिए प्रशासन द्वारा उनकी नशीली दवाओं के दुरुपयोग को अनदेखा किया जाता है।

कंगना रनौत ने कहा कि बॉलीवुड पार्टियों में कुछ ऐसे लोग हैं, जिन्हें हर पार्टियों में देखे जाते हैं। यही लोग ड्रग्स की सप्लाई करते हैं। ये आमतौर पर रेस्तरां या क्लब चलाने वाले लोग होते हैं।

कंगना रनौत ने कहा कि जब उन्होंने मुंबई में हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में प्रवेश किया था, तब उन्हें एक करेक्टर आर्टिस्ट द्वारा ड्रग्स दिया गया था। उन्होंने बताया कि चंडीगढ़ में एक प्रतियोगिता जीतने के बाद, उन्हें एक टीवी विज्ञापन के लिए चुना गया था। जिसके बाद उन्होंने एक एजेंसी को साइन किया। जिन्होंने उन्हें मुंबई भेज दिया।

कंगना जब मुंबई में अपने लिए काम देख रही थीं, तब वो एक महिला के साथ रहती थीं। उस दौरान उस करेक्टर आर्टिस्ट से उनकी दोस्ती हुई थी और जल्द ही वह खुद को उनका (कंगना का) मेंटोर समझने लगा था। कंगना रनौत के अनुसार, वह आदमी उन्हें पार्टियों में ले जाने लगा। वह उनके ड्रिंक्स में ड्रग्स मिलाता था। जिसकी वजह से वे उसके करीब आने लगी थीं। इस किस्से के बाद वह खुद को कंगना का पति मानने लगा था। वह कंगना को चप्पल से मारता था और गाली देता था। कंगना ने कहा वह आदमी अपने जाल में फँसाने के लिए उन्हें ड्रग्स देता था।

कंगना के अनुसार वह आदमी उन्हें बॉलीवुड में रोल दिलाने की बातें करता था, लेकिन जब उन्हें एक बड़ी फिल्म का ऑफर आया तो वह शॉक्ड हो गया। उसके बाद वह शख्स कंगना को इंजेक्शन देने लगा, जिससे कि वो शूटिंग पर न जा सकें।

कंगना ने यह सारी बातें उस फिल्म के डायरेक्टर अनुराग बासु को बताया था। बासु ने उस दौरान कंगना की मदद की थी। मदद के तौर पर उन्हें कई रात ऑफिस में रहने के लिए भी बोला था ताकि वह आदमी कंगना को नुकसान न पहुँचाए।

कंगना रनौत ने एक ऐसी घटना के बारे में बताया, जिसमें उन्होंने एक शीर्ष बॉलीवुड स्टार को एक विदेशी शूटिंग के दौरान ड्रग्स लेते हुए देखा था। फिल्म में कंगना की एक छोटी सी भूमिका थी और शूटिंग लास वेगस में थी। इस वक्त उनकी एंट्री बॉलीवुड के ड्रग माफिया के बीच हुई थी। उन्होंने बताया कि बॉलीवुड स्टार और उनकी पत्नी खुलेआम ड्रग्स का सेवन कर रहे थे।

बाद में वे बॉलीवुड के टॉप स्टार के साथ रिलेशनशिप में आई। उस दौरान उस सुपरास्टर को ड्रग्स ओवरडोज के चलते अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। उन्होंने यह भी कहा कि उस स्टार और उसकी फैमिली ने भी उन्हें इस ड्रग्स की दुनिया मे ढकेलने की कोशिश की थी।

कंगना ने आगे कहा कि इंडस्ट्री में बाहरी लोगों का शोषण किया जाता है। उन्होंने कहा कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में कानून व्यवस्था का कोई हस्तक्षेप नहीं है। इंडस्ट्री माफिया या अंडरवर्ल्ड की तरह काम करती है। उन्होंने कहा कि अगर कोई पुलिस के पास मदद माँगने जाता भी है तो उसे मानसिक रूप से पीड़ित करार कर दिया जाता है। यहाँ तक कि उसकी हत्या कर दी जाती है।

अभिनेत्री ने कहा कि अगर वह इस समय मुंबई में होतीं, तो बॉलीवुड में ड्रग माफिया के बारे में बात करने के लिए उन्हें मार दिया जाता। वह लॉकडाउन की शुरुआत से ही अपने मनाली वाले घर में रह रही हैं। “मेरे लिए, यह करो या मरो” वाली सिचुएशन है। उन्होंने कहा,”अगर मैं अपने दुश्मनों को खत्म नहीं करूँगी, तो वे मुझे खत्म कर देंगे, मैं अब नहीं रुकूँगी।”

उन्होंने इंडस्ट्री और ब्रैंड्स को उनके हिंदू-विरोधी, राष्ट्र-विरोधी स्टैंड के लिए भी लताड़ा। उसने खुलासा किया कि ब्रांड सेलेब्रिटीज़ से राष्ट्रवाद के बारे में बात नहीं करने के लिए कहते हैं। अगर कोई राष्ट्रवाद के बारे में बात करता है तो उन्हें विज्ञापन और फिल्में नहीं मिलती है। उन्होंने यह भी पूछा कि बॉलीवुड ने कभी ट्रिपल तलाक और निकाह हलाला जैसे विषयों पर फिल्म क्यों नहीं बनाई?

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति