Monday , September 28 2020

भारत-चीन तनाव: अमेरिका ने दिया बड़ा बयान, चीन को ‘मिर्ची’ लगना तय

वॉशिंगटन। चीन के साथ विवाद (India-China standoff) पर अमेरिका ने एक बार फिर भारत का साथ दिया है. अमेरिका ने कहा है कि बीजिंग की तरफ से बार-बार होने वाले उकसावे से निपटने एकमात्र तरीका है उसका सामना करना.अमेरिका ने कहा कि वह LAC पर चल रही गतिविधियों पर बारीकी से नजर रखे हुए है.

मेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा कि हमें मुद्दे के शांतिपूर्ण समाधान की उम्मीद है, लेकिन बार-बार उकसावे की बीजिंग आदत से निपटने का एकमात्र तरीका है उसका सामना करना. उन्होंने आगे कहा, ‘विदेशमंत्री माइक पोम्पियो भी कई मौकों पर यह स्पष्ट कर चुके हैं कि बीजिंग राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अत्यधिक आक्रमक नीति अपना रहा है, जो कि परेशान करनी वाली बात है’.

भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब
गौरतलब है कि चीन की सेना के 29-30 अगस्त की रात को पैंगोंग झील के दक्षिण बैंक क्षेत्र में यथास्थिति बदलने का प्रयास किया था, लेकिन भारतीय सेना ने इस आक्रामक कार्रवाई का मुंहतोड़ जवाब दिया. चीन ने 31 अगस्त की रात को भी एक बार फिर घुसपैठ की कोशिश की थी लेकिन भारतीय जवानों ने उसे विफल कर दिया. हैरानी की बात ये है कि चीन की तरफ से ये हरकत उस वक्त हुई जब कमांडर स्तर की बातचीत चल रही थी.

लद्दाख में LAC पर भारतीय सेना ने अपने टैंकों को महत्वपूर्ण इलाकों में तैनात किया. चुशूल और डेमचोक से चीन के हमले की आशंका के बाद ये तैनाती की गई है. चीन की सेना के टैंकों के आगे बढ़ने के बाद भारत ने ये तैनाती की है. पैंगोंग झील पर भारत की स्थिति मजबूत है. भारतीय सेना सभी संवेदनशील क्षेत्रों में आक्रामक रुख बनाए रखेगी. पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे यानी ब्लैक टॉप पर अब भारतीय सैनिक तैनात हैं.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति