Tuesday , September 29 2020

बिहार: 19 साल की लड़की को जैनुल और हकीमा खातून ने जिंदा जलाया, गाँव छोड़कर भागे

मुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में संपत्ति को लेकर हुए विवाद में 19 वर्षीय एक युवती को जिंदा जला दिया गया है। युवती के चाचा-चाची पर ही उसे जिंदा जलाने के आरोप लगे हैं। ये दिल दहला देने वाला मामला सकरा पुलिस थाने के रामपुर बखरी गाँव का है।

घटना शुक्रवार (सितंबर 4, 2020) की बताई जा रही है। जानकारी के मुताबिक, जमीन विवाद में 19 वर्षीय सुफियाना परवीन को जिंदा जला दिया गया। युवती को जिंदा जलाने के मामले में सकरा थाने में FIR दर्ज की गई। इसमें मृत युवती के चाचा मोहम्मद जैनुल आवेद्दीन, चाची मोनी परवीन उर्फ हकीमा खातून, मोहम्मद अंजार और मोहम्मद इश्तेखार को आरोपित किया गया है। घटना के बाद से सभी फरार हैं।

मृतका सुफियाना के छोटे भाई कुदरत अली ने बताया कि उसकी बहन पड़ोस में समसूद जोहा के घर हैंडपंप पर नहाने के लिए गई थी। इसी दौरान उसकी चाची हकीमा और अन्य लोगों ने सुफियाना पर केरोसिन डालकर आग लगा दी। वारदात को अंजाम देने के बाद वो मौके से फरार हो गए। सुफियाना के चिल्लाने की आवाज आई लगी तो स्थानीय लोग मदद के लिए पहुँचे, लेकिन तब तक काफी देर हो गई और उसकी मौत हो गई।

इसके अलावा, कुदरत ने बताया कि मरने से पहले उसके पिता ने ज़ैनुल के नाम पर 10 धुर ज़मीन लिखी थी। कुदरत का कहना है कि ज़ैनुल अब उस ज़मीन के मालिकाना हक के अलावा 10 धुर अतिरिक्त भूमि का दावा करता है। इसी को लेकर उसने वारदात को अंजाम दिया।

मृतका की माँ हुस्न बानो उर्फ बोरिया खातून ने बताया कि उसके पति की मौत हो चुकी है। उसके पिता मुजीबुलहक किसी तरह परिवार का भरण-पोषण करते हैं। मृतका के नाना व माँ ने पुलिस को बताया कि पट्टीदार मोहम्मद जैनुल आबेदीन से काफी दिनों से उनका विवाद चल रहा है। कई बार जमीन हड़पने की नीयत से मारपीट कर हत्या करने की कोशिश की गई।

इस घटना के बारे में जानकारी देते हुए दारोगा एसके झा ने बताया कि निरीक्षण के दौरान केरोसिन के दो खाली डब्बे मिले। दारोगा ने बताया कि जमीन विवाद में युवती को जिंदा जलाकर मारने का आरोप लगाते हुए मृतका की माँ ने आवेदन दिया है जिसके आधार पर एफआईआर दर्ज कर पुलिस आरोपितों की धर-पकड़ के लिए छापेमारी करने में जुटी है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति