Monday , September 28 2020

कंगना पर बोले संजय राउत- BMC ने कानून के तहत लिया एक्शन

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार और शिवसेना के साथ अभिनेत्री कंगना रनौत की तकरार जारी है. बुधवार को बीएमसी ने कंगना रनौत के दफ्तर पर अवैध निर्माण को तोड़ा. अभिनेत्री कंगना रनौत के साथ जारी विवाद के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि वो सरकार का एक्शन है, उसमें मेरा कोई लेना देना नहीं है.

कंगना द्वारा शिवसेना को बाबर की सेना कहने पर संजय राउत ने कहा कि बाबरी तोड़ने वाले ही हम लोग हैं, तो हमें क्या कह रहे हैं.

संजय राउत ने कहा कि इसकी टाइमिंग क्या है, इसका जवाब सिर्फ बीएमसी के कमिश्नर दे सकते हैं. अगर कोई कानून तोड़ता है तो उसपर एक्शन लिया जाता है, ऐसे में पार्टी के पास जानकारी हो जरूरी नहीं है.

शिवसेना सांसद ने कहा कि शरद पवार ने क्या कहा है मुझे मालूम नहीं है, क्योंकि मेरे लिए अभिनेत्री के साथ का विवाद खत्म हो गया है. विधानसभा में कंगना रनौत के खिलाफ प्रस्ताव आया है, गृह मंत्री ने भी बयान दे दिया है ऐसे में जब कानून काम कर रहा है तो मेरा बोलना ठीक नहीं है.

बीएमसी के एक्शन पर संजय राउत ने बोला कि अब ये पूरा एक्शन हाईकोर्ट के पास पहुंच गया है, ऐसे में अब बीएमसी ही अदालत में जवाब देगी. संजय राउत ने कहा कि कोई एक्शन बदले की भावना का नहीं है, मुंबई में पूरे देश के लोग आकर रहते हैं.

बुधवार को लगातार कंगना के द्वारा किए गए ट्वीट पर शिवसेना सांसद ने कहा कि मेरे लिए विषय खत्म हो चुका है, लेकिन अब जो कर रही है वो सरकार के हाथ में है. शिवसेना कभी कटघरे में खड़ी नहीं होती है, अगर कोई महाराष्ट्र के सम्मान के साथ खेलता है तो जनता नाराज होती है.

अभिनेत्री के दफ्तर पर हुए एक्शन ने कहा कि कंगना रनौत से उनकी व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है, वो एक कलाकार हैं ऐसे में मुंबई में रहती हैं. लेकिन जिस प्रकार की भाषा उन्होंने मुंबई और महाराष्ट्र के लिए इस्तेमाल की है, वो बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं हैं. अगर कंगना अपने शब्द वापस ले लेंगी, तो फिर क्या ही झगड़ा रहेगा.

शिवसेना सांसद ने कहा कि कंगना रनौत को पहले भी किसी ने धमकी नहीं दी थी, ऐसे में हमसे उन्हें कोई खतरा नहीं है. आपको बता दें कि कंगना रनौत लगातार जारी विवाद के बीच बुधवार को मुंबई पहुंचीं, जहां एयरपोर्ट पर सैकड़ों शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने उनका विरोध किया.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति